Top
Home > Archived > बहुत कुछ सिखाते हैं नन्हें-मुन्ने बच्चे

बहुत कुछ सिखाते हैं नन्हें-मुन्ने बच्चे

बहुत कुछ सिखाते हैं नन्हें-मुन्ने बच्चे

बहुत कुछ सिखाते हैं नन्हें-मुन्ने बच्चे


कहते हैं बच्चे मन के सच्चे होते है। उनका दिल साफ़ होता हैं। वह किसी से कोई भेद भाव नहीं करते। जो दिल में होता हैं बोल देते हैं। उनकी सोच में एक तरह की सच्चाई और मासूमियत होती हैं। बच्चो में ऐसी ही कई सारी खूबियां होती हैं जीसे हम अपनी जिंदगी में अपना सकते हैं। तो आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ खूबियों के बारे में...


1. बच्चो की सब से बड़ी खूबी यह होती हैं कि उन्हें रंग, जाति, भेद, समुदाय, गोरे-काले से कोई लेना देना नहीं होता। वह अपनी पसंद और ना पसंद का चुनाव इन चीजों के आधार पर नहीं करते। यही खूबी उन्हें हम बड़ो से अलग करती हैं और सभी के दिलों के नजदीक ला देती हैं। यदि हम बड़े भी बच्चों की इस आदत को अपना ले तो समाज की अाधी समस्याएँ यूं ही हल हो जाएगी।

2. बच्चे दलबदलू या फेक नहीं होते। वो जैसे हैं वैसे ही बने रहते हैं। फिर चाहे परिस्थिति कोई भी क्यों ना हो। यदि उन्हें कोई चीज पसंद नहीं तो वह मुंह पर बोल देते हैं. सिर्फ अपने फायदे के लिए कभी झूठ नहीं बोलते।

3. बच्चे बड़े बड़े सपने देखते हैं। मै बड़ा हो कर हवाई जहाज उड़ाऊंगा, देश का प्रधानमंत्री बनूँगा, हीरो बनूँगा इत्यादि। वो कहते हैं ना जब तक आप सपने देखोगे नहीं पुरे कैसे होंगे? यदि आप खुद पर विश्वास रखोगे तो काफी आगे तक जाओगे। बस यही सोच हम बड़ों को भी अपनानी चाहिए और सपने देखने से कतरना नहीं चाहिए।

4. बच्चे हमारी तरह किसी एक बात को पकड़ कर बैठे नहीं रहते। वो किसी भी चीज का लोड नहीं लेते। वर्तमान में जीते हैं। भविष्य या भूतकाल की परवाह नहीं करते। यही बात उन्हें बड़ो से अलग करती हैं। वो हमेशा टेंशन फ्री रहते हैं।

5. हम बड़े हो जाते हैं तो हम में घमंड की भावना पनपने लगती हैं। हम कोई भी बात आसानी से भूलना नहीं चाहते। लेकिन बच्चो में ऐसा नहीं होता। यदि किसी से गलती हुई हैं तो वो उन्हें झट से माफ़ भी कर देते हैं। उदाहरण के लिए दो भाई बहन या स्कूल के दोस्त ना जाने कितनी लड़ाई करते हैं मगर वक़्त आने पर साथ में एन्जॉय भी करते हैं। हमे भी यही सोच रखनी चाहिए और गीले सिक्वे भुला कर बिंदास जिंदगी जीना चाहिए।

Updated : 2016-04-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top