Top
Home > Archived > बाजार बैठक वसूली में नपा को प्रतिवर्ष लग रहा था 35 लाख का चूना

बाजार बैठक वसूली में नपा को प्रतिवर्ष लग रहा था 35 लाख का चूना

बाजार बैठक वसूली ठेका 38 लाख और सब्जी मंडी वसूली का ठेका 11 लाख 16 हजार में गया

शिवपुरी। अभी तक नगर पालिका बाजार बैठक वसूली और सब्जी मंडी वसूली अपने कर्मचारियों से करा रही थी और आंकड़ों से स्पष्ट है कि प्रतिवर्ष नगर पालिका के खजाने में बाजार बैठक वसूली से ढाई लाख रूपए जमा हो रहे थे। लेकिन आज खुली बोली में बाजार बैठक वसूली का ठेका 38 लाख रुपए वार्षिक में गया। इससे स्पष्ट है कि नगर पालिका को प्रतिवर्ष 35 लाख से अधिक का चूना लग रहा था। सब्जी मंडी वसूली का ठेका 11 लाख 16 हजार रुपए में गया। जबकि विगत वर्ष यह ठेका लगभग सात लाख में गया था। बाजार बैठक का ठेका गणेश तिवारी ने लिया जबकि सब्जी मंडी का ठेका राघवेन्द्र शर्मा मोनू निवासी बैराड़ ने लिया है और ठेका लेने के बाद दोनों ने 25 प्रतिशत बयाना राशि भी जमा करा दी है। दोनों ठेका वसूली प्रक्रिया में नपा उपाध्यक्ष अन्नी शर्मा और मुख्य नगर पालिका अधिकारी रणवीर सिंह शामिल रहे।

बाजार बैठक वसूली में गड़बड़ी नपा उपाध्यक्ष अन्नी शर्मा ने पकड़ी। उन्होंने कार्यभार संभालते ही जब बाजार बैठक वसूली के आंकड़े देखे तो वह चौक गए। नपा कर्मचारी बाजार बैठक वसूली में औसतन ढाई लाख रुपए साल लेकर आ रहे थे। प्रतिमाह आंकड़े देखें तो पता चलता है कि जनवरी 2015 में इस मद में 22 हजार, फरवरी 2015 में 18 हजार और मार्च 2015 में 16 हजार रुपए की वसूली आई थी। औसतन प्रतिमाह 19 हजार रुपए की वसूली आ रही थी। इस हिसाब से प्रतिवर्ष बाजार बैठक वसूली में नगरपालिका के खजाने में महज दो लाख 28 हजार रुपए ही जमा हो रहे थे। जबकि सब्जी मंडी वसूली का ठेका नगरपालिका कर्मचारियों के हाथों में न होकर ठेकेदार के हाथ में था और यह ठेका लगभग सात लाख रुपए वार्षिक में था।

श्री शर्मा ने दोनों आंकड़ों का जब मिलान किया तो वे समझ गए कि बाजार बैठक वसूली में नपा कर्मचारियों द्वारा जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। यह देखकर उन्होंने तुरंत बाजार बैठक वसूली करने वाले कर्मचारियों के साथ अपने निजी व्यक्तियों को भेजा तो वसूली बढ़ गई और एक दिन में 600 रुपए के स्थान पर 35 हजार रुपए जमा किये गए। पूरे माह नगरपालिका में बाजार बैठक वसूली के एक लाख रुपए जमा किए। इस भ्रष्टाचार को देखकर बाजार बैठक वसूली का भी ठेका कराने का निर्णय लिया गया। इसी तारतम्य में आज बाजार बैठक और सब्जी मंडी वसूली की खुली नीलाम प्रक्रिया शुरू हुई। बाजार बैठक वसूली में 14 ठेकेदारों ने बोली लगाई। नपा ने न्यूनतम बोली 12 लाख रुपए निर्धारित की और अंत में जाकर 38 लाख रुपए पर बोली समाप्त हुई।

बाजार बैठक वसूली में न्यूनतम बोली नौ लाख रुपए निर्धारित की गई। इस बोली में सात ठेकेदारों ने भाग लिया और 11 लाख 16 हजार रुपए वार्षिक में यह बोली राघवेन्द्र शर्मा मोनू के नाम टूटी। सब्जी मंडी में नगर के प्रत्येक वार्ड में सब्जी बेचने वालों से वसूली होगी। वहीं बाजार बैठक में सब्जी और फलों के अतिरिक्त अन्य सामान की बिक्री करने वाले अस्थाई दुकानदारों से वसूली होगी।

Updated : 2016-03-04T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top