Home > Archived > फाल्गुन में ज्येष्ठ जैसी गर्मी

फाल्गुन में ज्येष्ठ जैसी गर्मी

अड़तीस डिग्री के करीब पहुंचा पारा

ग्वालियर। मौसम का मिजाज इस बार होली से पहले ही गर्माने लगा है। फाल्गुन में ही पारा 38 डिग्री के करीब पहुंच रहा है। दोपहर में पड़ रही तेज धूप और ऊंची छलांग लगा रहे तापमान को देखते हुए लोग यह कहने लगे हैं कि इस बार तो फाल्गुन में ही ज्येष्ठ जैसी गर्मी सताने लगी है। जिस तरह से मार्च के तीसरे सप्ताह में ही तामपान सामान्य से चार से पांच डिग्री ऊपर पहुंच रहा है, उसे देखते हुए मौसम विभाग का पूर्वानुमान है इस बार मई और जून में तापमान 47 से 48 डिग्री तक पहुंच सकता है।

हालांकि इस बार फरवरी के दूसरे सप्ताह से ही पारा सामान्य से ऊपर जा रहा है, लेकिन पिछले दिनों हुई बारिश और ओलावृष्टि के असर से जहां पारा सामान्य से नीचे आ गया था वहीं गर्मी से भी राहत मिली थी, लेकिन आसमान साफ हो जाने के बाद पिछले तीन दिनों से पारा एक बार फिर तेजी से ऊपर चढऩे लगा है। भोपाल के मौसम विज्ञानी उमाशंकर चौकसे ने बताया कि मार्च में ही पारा 37 से 38 डिग्री पर पहुंचना कोई नई बात नहीं है। इससे पहले पिछले वर्षों में भी ऐसी स्थिति बनती रही है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में पश्चिमी विक्षोभ या अन्य कोई सिस्टम मौजूद नहीं है, इसलिए फिलहाल आसमान साफ रहेगा। इसके चलते फिलहाल पारा भी 37 से 38 डिग्री के आसपास ही बना रहेगा। उन्होंने बताया कि मई व जून में इस बार पारा 47 से 48 डिग्री तक जाने की संभावना है।

सबसे गर्म रहा रविवार

तापमान की दृष्टि से रविवार का दिन इस सीजन का सबसे गर्म रहा क्योंकि इस सीजन में आज पहली बार अधिकतम पारा 37.4 डिग्री दर्ज किया गया, जो औसत से 4.3 डिग्री अधिक है। इससे पहले सर्वाधिक अधिकतम पारा तीन मार्च को 36.8 और 11 मार्च को 36.7 डिग्री दर्ज किया गया था, जबकि पिछले दिनों हुई बारिश और ओलावृष्टि के बाद 15 मार्च को अधिकतम पारा लुढ़क कर 29.5 डिग्री पर आ गया था। स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार आज न्यूनतम पारा 18.0 डिग्री पर रहा, जो औसत से 2.5 डिग्री अधिक है। इसी प्रकार सुबह हवा में नमी 66 व शाम को 28 फीसदी दर्ज की गई, जो सामान्य से क्रमश: 21 व 06 फीसदी अधिक है।

Updated : 21 March 2016 12:00 AM GMT
Next Story
Top