Latest News
Home > Archived > बोर्ड परीक्षाएं शुरू नकल को लेकर सोशल साइटों पर होती है शिक्षकों के बीच चर्चाएं

बोर्ड परीक्षाएं शुरू नकल को लेकर सोशल साइटों पर होती है शिक्षकों के बीच चर्चाएं

अंदर परीक्षा, बाहर मैदान में गपशप लड़ाते मिले शिक्षक

जिलाधीश ने निलंबित किए दो शिक्षक

श्योपुर। म.प्र. परीक्षा मंडल भोपाल ने भले ही शिक्षकों को नकल रोकने के लिए सख्ती बतरने के निर्देश जारी किए हो, लेकिन यहां नकल रोकना तो दूर की बात बल्कि शिक्षक सोशल साइटों के माध्यम से एक-दूसरे से नकल की जुगाड़ भिडाने में लगे हुए हैं। हालंाकि शिक्षक इसे महज मजाक बता रहे है, लेकिन बोर्ड परीक्षाओं के दौरान शिक्षकों का सोशल साइटों पर इस तरह से बातें करना कहीं न कहीं चर्चा का विषय जरूर है। वहीं लापरवाही के आरोप में दो शिक्षकों को जिलाधीश ने निलंबित कर दिया है।

मालूम हो, श्योपुर जिले में हर बार शिक्षा माफिया बोर्ड परीक्षाओं पर हावी नजर आए है। शिक्षा माफियाओं को उनके मंसूबों में कामयाब करने के पीछे भी शिक्षा विभाग के नुमाइंदे ही होते है। लेकिन इस बार शिक्षा विभाग ने नकल को रोकने के लिए काफी कड़े इंतजाम किए है, यही वजह है कि नकल को लेकर शिक्षकों के बीच भी चर्चाऐं हो रही है। नाम न छापने की शर्त पर शिक्षकों ने बताया कि हर बार बोर्ड परीक्षा के प्रश्रपत्र बंटने से करीब 15 मिनट पहले 20 से 25 नंबर की ओटी (वस्तुनिष्ठ प्रश्र) ड्यूटी पर तैनात शिक्षकों द्वारा ही हल करा दी जाती थी, लेकिन इस बार म.प्र. शिक्षा मंडल द्वारा नकल पर अंकुश लगाने के लिए सख्ती बरती जा रही है। यही कारण है कि कई शिक्षक सोशल साइटों पर एक-दूसरों से ओटी की जुगाड़ लगा रहे हैं।


हर बार होती है नकल
शिक्षा माफियाओं के सक्रिय होने के कारण परीक्षा केन्द्रों पर हर बार नकल का बोल-बाला रहता है। शिक्षा माफिया और उनके सहयोगी शिक्षक पेपर में आने वाली 25 नंबरों की ओटी को पेपर शुरू होने से पहले ही हल करा देते हैं, लेकिन इसके शिक्षा विभाग के लाख प्रयासों के बाद भी जिले में नकल प्रकरणों पर अंकुश नहीं लग पाते। जिले में बनाए जाने वाले अतिसंवेदशीन परीक्षा केन्द्रों पर हर बार नकल होने की सबसे अधिक संभावना रहती है।

बोर्ड परीक्षा के पहले दिन 184 रहे अनुपस्थित
मालूम हो माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षा के पहले दिन हायर सेकेण्ड्री के हिन्दी का प्रश्रपत्र सम्पन्न कराया गया। जिसमें जिले में बनाए गए कुल 30 परीक्षा केन्द्रों में से 29 परीक्षा केन्द्रों पर कुल दर्ज 4 हजार 401 परीक्षार्थियों में से 4 हजार 217 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी, वहीं 184 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। किसी भी केन्द्र पर नकल प्रकरण नहीं बनाया गया।


निलंबन की कार्रवाई
शा. उत्कृष्ट उमावि कराहल के सहायक केन्द्राध्यक्षों को कलेक्टर पीएल सोलंकी ने बोर्ड परीक्षा में लापरवाही बरतने के चलते निलंबित कर दिया गया है। हुआ यूं कि शा. श्रीहजारेश्वर उमावि के वरिष्ठ अध्यापक शिवसिंह जयंत व कराहल उत्कृष्ट उमावि के अध्यापक मुकेश कुमार सेन को शा. उत्कृष्ट उमावि पर सहायक केन्द्राध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। दोनों ही अध्यापक हायर सेकेण्ड्री परीक्षा के दौरान ड्यूटी देने के बजाए बाहर मैदान में बैठकर गप्पे लड़ा रहे थे। इसी बीच केन्द्र पर निरीक्षण करने पहुंच कलेक्टर ने दोनों शिक्षकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

इनका कहना है
मैने तो किसी भी तरह की सोसल साइट नहीं देखी है, यदि ऐसा मामला सामने आता है, तो संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
अजय कटियार
जिला शिक्षा अधिकारी, श्योपुर

Updated : 2016-03-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top