Top
Home > Archived > नकली सोने के चार कारोबारी गिरफ्तार

नकली सोने के चार कारोबारी गिरफ्तार

आधा दर्जन से अधिक वारदातें कबूलीं

श्योपुर। लोगों को गढा हुआ सोना सस्ते में देने का लालच देकर लोगों के साथ धोखाधड़ी करने वाले चार नामजद आरोपियों को सेसईपुरा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने एक माह पहले ही एक टीचर के साथ 95 हजार रुपए की धोखाधड़ी की है। थाना प्रभारी सुधाकर तोमर ने बताया कि एक माह पहले कुराचोर शासकीय स्कूल में पदस्थ शिक्षक करणलाल पुत्र भागीरथ दचेरिया 50 निवासी भोंटूपुरा को चार आरोपियों ने सस्ते में सोने के मोती देकर 95 हजार रुपए की धोखाधड़ी की थी। मोती लेने के बाद टीचर ने कराहल पहुंचकर जब उक्त मोतियों की जांच कराई तो पता चला कि उक्त मोती तो नकली हैं। सकते में आया शिक्षक सीधा थाने पहुंचा और लिखित आवेदन दिया। आवेदन की जांच पर से पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को न केवल गिरप्तार कर लिया, बल्कि उनके कब्जे से नकली जेवरात भी बरामद किए। जिन आरोपियों को गिरप्तार किया गया है,उनमें बलवीर मोगिया, दोलत मोगिया निवासी कीरपुर बैराढ़ सहित दोली बाल्मिक एवं मनोज बाल्मिक शामिल हैं।
पहले दिए दो असली मोती
करीब चार माह पूर्व दोली बाल्मिक कुराचोर आया था, तब उसने अपना नाम राजू कुशवाह बताया था। इस दौरान आरोपी उक्त टीचर का मोबाइल नंबर भी ले गए थे। तभी से आरोपी अक्सर टीचर से बात करते रहते थे। घटना के कुछ दिन पहले भी आरोपी दोली का उक्त शिक्षक के पास कॉल आया और बोला कि सर हमें गढा हुआ सोना मिला है, जिसे हम बेचना चाहते हैं। चूंकि हमें कोई जानता नहीं है, इसलिए आप चोरी-छिपे सोने को बिचवा दो। आपको यकीन नहीं आए तो आप सेंपल देख लेना।
इसके बाद या तो आप ले लेना या फिर बिचवा देना। गत 3 जनवरी को आरोपी ने शिक्षक को दो सोने के असली मोती दिए। इन मोतियों को देखकर शिक्षक को यकीन हो गया कि मोती तो असली ही हैं। दूसरे दिन टीचर 95 हजार रूपए लेकर आरोपियों द्वारा बताए स्थान पर पहुंचा और नगद कैस के ऐवज में 240 ग्राम वजनी मोती ले लिए। जब मोतियों की जांच कराई तो वे नकली निकले। तब कहीं जाकर इस मामले का खुलासा हो सका।
कई बार कर चुके है धोखाधड़ी
थाना प्रभारी श्री तोमर ने बताया कि आरोपियों ने स्वीकार किया है कि वे अब तक आधा दर्जन से अधिक लोगों के साथ धोखाधड़ी कर चुके हैं। चार साल पहले सेसईपुरा में भी एक युवक को इसी तरह ठगा गया। मुरैना के अशोक नामक व्यक्ति के साथ भी धोखाधडी की जानकारी मिली है। अशोक से 80 हजार रुपए लिए और उसके ऐवज में सोने की मोटी जंजीर थमा दी। उक्त व्यक्ति को भी यहां बुलाया गया है, ताकि आरोपियों को पहचान सकें।

Updated : 2016-02-07T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top