Home > Archived > फिजी तूफान में मरने वालों की संख्या बढ़कर हुयी 29

फिजी तूफान में मरने वालों की संख्या बढ़कर हुयी 29

सुवा। फिजी में आये अबतक के सबसे भयावय तूफान में मरने वालों की संख्या बढ़कर 29 हो गई है। वहीं सरकार ने तूफान के बाद हुई तबाही से निपटने और बचावकार्य जोर-शोर से शुरु कर दिये हैं। अधिकारियों का कहना है कि इस विनाशकारी तूफान से उबरने में प्रशांत क्षेत्र के इस देश को कई माह लग सकते हैं।

सरकार के प्रवक्ता एवान पेरिन ने फोन पर दिए एक साक्षात्कार में बताया, ‘‘मृतकों की आधिकारिक संख्या अब 29 है। कोरो द्वीप पर कल से अब तक अन्य आठ शव बरामद किए गए। इस संख्या में वृद्धि की आशंका है लेकिन उम्मीद है कि यह वृद्धि छोटी ही हो।

लगभग 8500 लोग अब भी निकासी केंद्रों में हैं। पेरिन ने कहा कि कुछ गांवों में बमुश्किल ही कोई इमारत बची है। बचाव कार्यों में तेजी लाए जाने के बाद इस आपदा का भयावह दृष्य दिखाई देने लगा है। सुदूर इलाकों में संचार व्यवस्था स्थापित करने की कोशिश की जा रही है।

तीव्रता के अनुसार श्रेणी पांच का विंस्टन नामक तूफान शनिवार और रविवार को फिजी से करीब 320 किमी की गति से से टकराया था। इस दौरान तेजहवाओं के साथ भारी बारिश हुई और समुंद्र में करीब 40 फुट उंची लहरें पैदा हुई।

सेटेलाइट से प्राप्त जानकारी से पता चला है कि दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्र पूरी तरह से तबाह हो गये हैं। तूफान स्थानीय समयानुसार शाम 6.30 पर फिजी तटों से टकराया था। इसकी दिशा पश्चिम की ओर थी और यह दक्षिणी गोलार्ध में अभी तक के इतिहास का सबसे तेज तूफान माना गया है।

राहतकर्मियों का कहना है कि अभी तक बचावकार्य उन क्षेत्रों तक नहीं पहुंच पाया है जो इस तूफान से सबसे ज्यादा प्रभावित हुये हैं। ऐसे में मरने वालों का आंकड़ा बड़ सकता है। अखिरी समय में तूफान ने अपनी दिशा बदल ली और राजधानी सुवा को अपनी चपेट में लिये बिना ही आगे बढ़ गया वरना तबाही का मंजर और भी भयावह होता।

फिजी आस्ट्रेलिया के निकट एक छोटा देश है जो द्वीपों का समूह है। यहां बड़ी संख्या में भारतीय रहते हैं।

Updated : 2016-02-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top