Home > Archived > रंगदारी में गोली चलने से दो की मौत

रंगदारी में गोली चलने से दो की मौत

अधिकारी घटना स्थल पहुंचे, दिये कार्यवाही के निर्देश


कासगंज। जनपद मुख्यालय कासगंज पर बीती रात्रि उस समय भय एवं दहसत का माहौल व्याप्त हो गया जब नामजद अराजक तत्वों ने क्षेत्र में अपना दबदबा एवं भय व आतंक स्थापित करने के उद्धेश्य से अकारण गोली बारी की घटना को अंजाम दिया। इस दुस्साहसिक बारदात में एक 17 वर्षीय किशोर व 70 वर्षीय वृद्ध सहित दो लोगों की मौत हो गई जबकि तीन महिलाओं सहित चार लोग गम्भीर रूप से घायल हो गये, जिसमें एक घायल की हालत चिन्ताजनक बनी हुई है। वहीं क्षेत्रीय वासिंदों ने घटना के प्रति आक्रोश व्यक्त कर विरोध प्रर्दशन भी किया। बाद में पुलिस ने दोनों मृतको के शवों को कब्जे में ले पंचनामा कार्यवाही पूर्ण कर उन्हें पोस्टमार्टम के लिए एटा भेज दिया।


साथ ही इलाका पुलिस ने छ: नामजद आरोपियों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही करते हुए दो आरोपियो को अपनी हिरासत में लिया शेष आरोपी अभी भी फरार बताये गयें है। जानकारी मिलने पर जिलाधिकारी के. विजेन्द्र पाण्डिायन व पुलिस कप्तान सुनील कुमार ने घटना स्थल का मौका मुआना कर घटना के संदर्भ में जानकारी प्राप्त की।


घटनाक्रम के अनुसार कासगंज कोतवाली क्षेत्र के शान्तापुरी कालोनी निवासी राजू व मोनू पुत्रगण ग्याप्रसाद एवं बलराम व उसके पुत्र तिरमल, कमलेश व ओमवीर क्षेत्र में अपना दबदबा एवं रंगदारी कायम करने के लिए आये दिन असमाजिक तत्वों के साथ गैर कानूनी हरकतों को अंजाम देते आ रहे थे।इसी क्रम में बीती रात्रि भी नामजद आरोपियों ने भय व आतंक कायम करने के उद्धेश्य को लेकर अकारण गोली काण्ड की घटना को अंजाम दिया।

इस गोली काण्ड की घटना में 17 वर्षीय सारंश पुत्र रजनेश व 70 वर्षीय गंगाबल्लभ पुत्र नेकशू अनुज शर्मा पुत्र गंगाबल्लभ शर्मा, रामा शर्मा पत्नी विष्णुदत्त शर्मा, मुन्नी देवी पत्नी विनोद कुमार, बेदवती पत्नी योगेश कुमार निवासी शान्तापुरी कालौनी कासगंज घायल हो गये। गोली काण्ड की घटना से पूरे क्षेत्र में दहसत का माहौल व्याप्त हो गया। सूचना मिलने पर इलाका पुलिस मौके पर पहॅुची साथ ही सभी घायलों को उपचार के लिए कासगंज जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया जहां चिकित्सकों ने 17 वर्षीय सारांश व 70 वर्षीय वृद्ध गंगाबल्लभ को मृत घोषित कर दिया। वहीं गोली काण्ड की घटना में घायल अनुज शर्मा, रमा शर्मा, मुन्नी देवी व वेद वती की हालत गम्भीर देख उन्हें संघन चिकित्सा के लिए मेडीकल कोलेज रैफर कर दिया।


जहां घायल अनुज शर्मा की हालत नाजुक बनी हुई है। इस घटना के बाद पुलिस प्रशासन को जनता के आक्रोश का भी सामना करना पड़ा। घटना की जानकारी मिलने पर जिला अधिकारी के. बिजेन्द्र पाण्डियान ने पुलिस कप्तान सुनील कुमार के साथ मौके पर पहॅुचे और घटना के संदर्भ में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर आक्रोषित जनता को समझा बुझा कर शांत किया। बाद में इलाका पुलिस ने मृतकों के शवों को कब्जे में ले पंचनामा कार्यवाही पूर्ण कर उन्हें पोस्मार्टम के लिए एटा भेज दिया। साथ ही मृतक के परिजनों की शिकायत पर छा: नामजद आरोपियों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर कार्यवाही प्रारम्भ कर दी साथ ही दो आरोपियों को अपनी हिरासत में लिया शेष आरोपी फरार बताये गये है।

Updated : 20 Feb 2016 12:00 AM GMT
Next Story
Top