Latest News
Home > Archived > भाषण प्रतियोगिता में बताया पानी का महत्व

भाषण प्रतियोगिता में बताया पानी का महत्व

पॉलीटेक्निक महाविद्यालय में हुई साहित्यिक प्रतियोगिताएं
भाषण प्रतियोगिता में संबोधित करते हुए प्रतियोगी।

अशोकनगर | पॉलीटेक्निक महाविद्यालय में भाषण, तात्कालिक भाषण एवं वाद-विवाद और काव्य पाठ प्रतियोगिताएं हुई। जल संरक्षण विषय पर हुई भाषण प्रतियोगिता मेें बताया गया पूरे ब्रह्माण्ड में पृथ्वी पर ही जीवन है क्योंकि इस गृह पर जल है। जल ही जीवन है जल के अभाव में जीवन की कल्पना नही की जा सकती। पृथ्वी के 70 फीसदी भाग पर जल है जिसमें सिर्फ 1 फीसदी ही उपयोगी है पानी की प्रत्येक बूंद का अपना महत्व है। एक सर्वे के अनुसार यदि हम इसी तरह पानी को बर्बाद करते रहे तो 2050 तक जल के सभी स्त्रोत खत्म हो जाएंगे। ऐसे विचार छात्र-छात्राओं ने जल संरक्षण की आवश्यकता और उपाय विषय पर भाषण प्रतियोगिताओं में बोलते हुए व्यक्त किए। वहीं तकनीकी शिक्षा रोजगार देने वाली है विषय वादविवाद प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। वक्ताओं ने वर्तमान तकनीकी शिक्षा की उपयोगिता बताते हुए इसके गुण दोषों को बताया। तात्कालिक भाषण प्रतियोगिताओं में विभिन्न विषयों पर छात्रों ने विचार व्यक्त किए।


प्राचार्य केके शर्मा, कार्यक्रम प्रभारी एमके नेमा ने बताया कि प्रतियोगिताओं के निर्णायक मण्डल में केएन झा, डॉ. मनीषा शर्मा, बीके गुप्ता, एमएल सोनी, सचिन शर्मा, अनिल धकाते, सीताराम चौहान आदि सम्मिलित रहे। अंत में छात्र-छात्राओं द्वारा हास्य व्यंग और देश भक्ति की रोचक कविताओं का पाठ कर उपस्थित श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया। कार्यक्रम का संचालन आरएस नामदेव द्वारा किया गया। इस अवसर पर मोनेश जैन, आशु गुरहा, अंकुर सोनी, राजू यादव, रूवी रघुवंशी, अंशुल रघुवंशी, कर्तिक सुमन, नरेन्द्र गुप्ता सहित छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Updated : 2016-02-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top