Latest News
Home > Archived > बीस को रद्द, अब मार्च में चल सकती है ट्रेन

बीस को रद्द, अब मार्च में चल सकती है ट्रेन

मण्डल प्रबंधक ने लिया ट्रैक का जायजा, देखी व्यवस्थाएं, स्टेशन का भी किया निरीक्षण

ग्वालियर। भिण्ड-इटावा ट्रैक पर चलने वाली पैसेंजर ट्रेन का संचालन एक बार फिर खटाई में पड़ गया है। वर्षों के लम्बे इंतजार के बाद बीस फरवरी को इस ट्रेन का संचालन किया जाना था। बुधवार को मण्डल प्रबंधक ने इसे लेकर उदी स्टेशन तक ट्रैक का निरीक्षण भी किया।
उल्लेखनीय है कि इस ट्रेन के संचालन को लेकर पहले ही रिपोर्ट फाइनल हो चुकी थी, लेकिन अपरिहार्य कारणों से ट्रेन का संचालन नहीं हो पा रहा है, जबकि इसी ट्रैक पर मालगाड़ी पिछले कई महीनों से लगातार दौड़ रही है। दोपहर बाद रेलवे अधिकारियों को मुख्यालय से कार्यक्रम रद्द होने की सूचना मिलते ही वह वापस मुख्यालय के लिए रवाना हो गए।
उल्लेखनीय है कि बहुप्रतीक्षित भिण्ड-इटावा ट्रैक पर पैसेंजर ट्रेन के संचालन का सपना संजोए बैठे लोगों का सपना एक बार फिर टूट गया। केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा और केन्द्रीय इस्पात एवं खनन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर 20 फरवरी को हरी झंडी दिखाकर भिण्ड कोटा पैसेंजर को इटावा के लिए रवाना करने वाले थे। लेकिन बताया जा रहा है कि रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा बीस फरवरी को समय नहीं दे पा रहे हैं।
रेल राज्यमंत्री नहीं दे पा रहे समय
सूत्र बताते हैं कि बीस फरवरी का कार्यक्रम रद्द होने के पीछे का कारण रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के घर पर कार्यक्रम तथा बजट को लेकर बैठक बता रहे हैं। जिसके चलते उन्हें बीस फरवरी को शाम चार बजे तक दिल्ली पहुंचना होगा। लेकिन भिण्ड से दिल्ली तक शाम चार बजे तक नहीं पहुंचा जा सकता। इसके चलते टे्रन का संचालन फिलहाल रद्द किया जा रहा है। अब संभवत: मार्च में इस ट्रेक पर पैसेंजर दौड़ सकती है।
उदी स्टेशन तक देखी व्यवस्थाएं
बुधवार को हीराकुंड एक्सप्रेस से अपने दल-बल के साथ ग्वालियर पहुंचे डीआरएम ने यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए उदी स्टेशन तक टै्रक का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने भिण्ड तथा उदी स्टेशन पर तैयार किए गए सेटअप तथा यात्रियों को मिलने वाली सुविधाओं को देखा। इस दौरान डीआरएम ने चंबल पुल के पिलर में पड़ी उस दरार को भी देखा जिसकी वजह से अभी तक यात्री गाड़ी अटकी हुई थी।
ट्रेन चलेगी तो यात्रियों के समय व पैसे की होगी बचत
भिण्ड इटावा ट्रैक पर यात्री टे्रन के संचालित होने पर इटावा की ओर से आने-जाने वाले यात्रियों को आर्थिक रूप से राहत तो मिलेगी ही साथ ही समय की भी बचत भी होगी, ग्वालियर सीधे हावड़ा से जुड़ जाएगा। अभी तक बस संचालकों की मोनोपॉली के चलते यात्रियों से मनमाना किराया वसूला जाता है। ट्रेन के शुरु होने के बाद बस संचालकों की मनमानी तो समाप्त हो ही जाएगी। इसके अलावा यात्रियों के समय व पैसे की भी बचत होगी।
अव्यवस्थित पार्सल को देख एडीएम हुए नाराज
भिण्ड से निरीक्षण कर लौटे मण्डल प्रबधंक एसके अग्रवाल जब झांसी लौटने के लिए केरला एक्सप्रेस का इंतजार कर रहे थे तब उन्होंने पार्सल ऑफिस के बाहर प्लेटफॉर्म पर अव्यवस्थित रूप से रखे पार्सल को देखकर पार्सल अधिकारी जनवेद सिंह मीणा को लताड़ लगाई। उन्होंने कहा कि लीज का पार्सल प्लेटफॉर्म पर रखने की जगह अंदर हॉल में रखें। जिससे यात्रियों को निकलने में परेशानी न हो। इसके अलावा उन्होंने प्लेटफॉर्म नंबर एक पर सीलिंग पर दिख रही गंदगी को देखकर नाराजगी व्यक्त की और इसे तत्काल साफ करने के लिए कहा।
हां सूचना मिली है कि किन्ही कारणों से बीस फरवरी का कार्यक्रम रद्द किया जा रहा है, अब संभवत: मार्च में गाड़ी चल सकती है।
विजय कुमार, सीपीआरओ, इलाहाबाद
रेल राज्यमंत्री को शाम चार बजे तक दिल्ली पहुंचना है, इस कारण से बीस तारीख का कार्यक्रम रद्द होने की संभावना है। मैं अभी केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर से चर्चा करुंगा, उसके बाद ही स्थिति साफ होगी।
भागीरथ प्रसाद, भिण्ड सांसद

Updated : 2016-02-18T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top