Latest News
Home > Archived > भदरौली गांव में खेत पर बने मकान पर भंैस चोरों ने बोला धावा

भदरौली गांव में खेत पर बने मकान पर भंैस चोरों ने बोला धावा

भदरौली गांव में खेत पर बने मकान पर भंैस चोरों ने बोला धावा
X

ग्रामीणों के साथ गोलीबारी में भैंस चोर की मौत

हत्या का मामला दर्ज


ग्वालियर।
महाराजपुरा थाना क्षेत्र के भदरौली गांव में देर रात चोरों ने खेत पर बने एक मकान पर धाबा बोल दिया। भैंस चोरों की आहट सुनकर श्वानों ने भौंकना शुरू कर दिया, जगार हो जाने पर इन चोरों ने गोलियां चलाना शुरू कर दी, जवाब में ग्रामीणों ने भी गोलियां चला दीं, इसमें एक बदमाश की गोली लगने से मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और शव को विच्छेदन गृह भेजकर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

महाराजपुरा थाना क्षेत्र के ग्राम भदरौली में सरदार सुच्चासिंह की 15 बीघा जमीन पर गांव के ही रहने वाले तीन परिवार बटाई पर खेती करते हंै। जबकि सुच्चासिंह श्योपुर में रहते हैं, गुरुवार को रात दो बजे के करीब बदमाशों ने खेत पर रहने वाले रंजीत पुत्र जगदीश परिहार उम्र 30 वर्ष के मकान पर धाबा बोल दिया। बदमाश रंजीत के तबेले की दीवार फोडक़र भैसों को चुराकर ले जा रहे थे कि तभी श्वानों ने भौंकना शुरू कर दिया। श्वानों की आवाज सुनकर रंजीत की नींद खुल गई और उसने तबेले में जाकर देखा तो भैंस नही दिखने पर उसने छोटे भाई शंकर को जगाया। दोनों भाईयों की बदमाशों पर नजर पड़ गई वह संभल पाते कि इससे पहले बदमाशों ने गोली चला दी। गोली चलते ही रंजीत ने शोर मचा दिया और फोन करके ग्रामीणों को बदमाशों की सूचना दे दी, दो दर्जन से ज्यादा ग्रामीणों ने खेत की घेराबंदी कर दी।

बदमाशों ने ग्रामीणों की आवाज सुनकर गोलियां चला दीं जवाब में ग्रामीणों ने भी मोर्चा संभाल लिया और दोनों ओर से गोलियां चलने लगीं। ग्रामीणों के गोलियां चलाते ही बदमाश वहां से भाग गए, भैंस चोरों की सूचना तत्काल 100 डायल को दी गई तडक़े तीन बजे के करीब पुलिस टीम गांव में पहुंच गई। बताया गया है कि गोलीबारी के बाद पुलिस ने खेत की संर्चिंग की तो तबेले से कुछ ही दूरी पर खेत में एक बदमाश का शव पड़ा हुआ मिला। मृतक की पहचान भूपेन्द्र पुत्र भारतभूषण शर्मा निवासी पारौली बामौर के रूप में हुई है। उसकी जेब की तलाशी लेने पर एक पर्ची निकली है जिसमें न्यायालय में पेश होने की तारीख 16 जनवरी 2017 लिखा हुआ है। पुलिस ने शव को उठाकर विच्छेदन गृह भेजने के बाद रंजीत की रिपेार्ट पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

ये परिवार रहते हैं खेत पर
रंजीत के परिवार के अलावा बब्लू कुशवाह और संजय कुशवाह का परिवार भी खेत पर रहता है जो सुच्चासिंह के अलावा दूसरी जमीन पर भी बटाई पर खेती करते हैं। ग्रामीणों का कहना था कि वह सर्दी होने के कारण जल्दी सो गए थे अन्यथा हार में पानी देते समय रात भर जागते रहते हैं।

भदरौली गांव में ग्रामीणों और बदमाशों के बीच हुई गोलीाबरी की घटना और बदमाश की मौत के बाद गांव में दहशत है तो वहीं पुलिस मस्त है। खेत पर रहने वाले परिवार हमले से सहम गए हैं और अपनी सुरक्षा को भी लेकर चिंतित हंै। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस रात में गश्त कभी नही करती है कोई घटना होने पर पांच किलो मीटर से भी ज्यादा दूर जाना पड़ता है। वहीं गावं में बिजली व्यवस्था भी खराब है। उधर ग्रामीणों पर हमले के मात्र दस घंटे बाद ही पुलिस के जवान ट्रकों से अवैध वसूली करने में व्यस्त थे।

किसकी गोली से हुई हत्या
पुलिस का कहना है कि ग्रामीण तो दूर से गोलियां चला रहे थे जबकि बदमाश अंधेरे में से गोलियंा दाग रहे थे। पुलिस को अंदेशा है बदमाश की मौत उसके साथी की गोली से ही हुई है। लेकिन अभी यह स्पष्ट नही है कि गोली किसकी लगी है, ग्रामीण शनिचरा वाले रोड से फायर कर रहे थे जबकि बदमाश खेत में खड़े होकर गोलियां दाग रहे थे।

एसपी पहुंचे घटना स्थल
भैंस चेारी करते हुए मारे गए बदमाश की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक डॉ. आशीष खरे अल सुबह मौके पर पहुंच गए और थाना प्रभारी अजीत चौहान और ग्रामीणों से वारदात के सम्बध में पूछताछ की।

बदनापुरा में गोलीबारी में मारे जा चुके हैं दो बदमाश
तीन साल पहले बदनापुरा में भी एक घर में तीन बदमाशों ने धाबा बोल दिया था।उस समय बदनापुरा के लोगों ने एक राय होकर बदमाशों पर गोलियां चला दीं थीं। दो बदमाश घर में ढेर हो गए थे। संभवत: उनकी भी पहचान नही हो सकी थी।

पुलिस बोली मुरैना के हो सकते हैं बदमाश
पुलिस का मानना है कि मुरैना के गिरोह भैंस चोरी करने में माहिर हैं। वहीं का गिरोह चोरी के लिए आया होगा। पुलिस ने अपना नेटवर्क मुरैना में फैला दिया है।

पिता बना मौनी बाबा बेटा मवेशी चेार
बताया गया है कि गोलीबारी में मारे गए भूपेन्द्र शर्मा के पिता ग्वालियर में स्थित भारत सिनेमाघर का मालिक कहलाता था। इन दिनों वह मौनी बाबा बन गया है और गांव पारौली में रहता है। वहीं उसका बेटा भूपेन्द्र शातिर मवेशी चोर बन गया जिस पर प्रकरण भी दर्ज हंै। शाम को भूपेन्द्र की पहचान होने पर परिजनों को उसका शव सौंपा जाएगा। भूपेन्द्र किसके साथ मवेशी चोरी करने के लिए गया था फिलहाल पता नहीं चल सका है।

बदमाशों का आंतक, मोटर व भैंसे खुलती रहती हैं
महाराजपुरा थाना क्षेत्र में भैंस चेारों का आतंक है, मुरैना के गिरोह इस क्षेत्र में सक्रिय हैं। दो माह पहले ही चोर नाथू खटीक के खेत से पानी की मोटर खोलकर ले गए थे, तो वही भैंस और घरों में भी गांव से चोरी की कई वारदातें हो चुकी हैं।

इनका कहना है
‘‘ग्रामीणों से गोलीबारी में एक बदमाश मारा गया है। यह बदमाश गांव में भैंस चेारी करने के लिए आए थे, पुलिस घटना की जांच कर रही हैे।’’

डॉ. आशीष खरे, पुलिस अधीक्षक

अन्य ख़बरे....

नए वर्ष में शनि ग्रह बदलेंगे अपना घर

चुनावी चंदे में पारदर्शिता का सवाल

Updated : 2016-12-31T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top