Top
Home > Archived > दो स्थानों पर ट्रेन की चपेट में आकर युवक-युवती की मौत

दो स्थानों पर ट्रेन की चपेट में आकर युवक-युवती की मौत

मेटाडोर से कुचलकर बालक का करूणांत

मथुरा। ट्रेन व सडक़ हादसे में एक युवती सहित तीन लोगों की दर्दनाक मृत्यु हो गयी। ट्रेन हादसों में मृत युवक-युवती की पहचान मोबाइल व पहचान पत्रों से हुई।
बताया गया कि ग्वालियर के किला गेट निवासी पूरन सिंह कुशवाह की 27 वर्षीय बेटी मधु कुशवाह सोमवार को समता एक्सप्रेस से दिल्ली अपनी सहेली से मिलने जा रही थी। छाता स्टेशन पर जैसे ही ट्रेन धीमी हुई तभी उतरने के प्रयास में मधु का पैर फिसल गया और वह ट्रेन व प्लेटफार्म के बीच फंसकर गंभीर रूप से घायल हो गई।

जब तक ट्रेन रूकती और उसे बचाने का प्रयास किया जाता उससे पहले ही मधु ने दम तोड़ दिया। वहीं दूसरी ओर जनपद बाराबंकी के गांव धरथाई निवासी मुकेश कुमार (20) पुत्र रघुनंदन हाइवे थाना क्षेत्र में चलती ट्रेन से गिर कर रेलगाड़ी की चपेट में आ गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। दोनों स्थानों पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। दोनों के पास मिले मोबाइल व पहचान पत्र उनकी शिनाख्त होने के बाद उनके परिजनों को सूचना भिजवा दी।
दूसरी और छाता क्षेत्र में घर के बाहर खेल रहे तीन वर्षीय मासूम को एक टाटा 407 चालक ने तेजी व लापरवाही से चलाते हुए रौंद दिया। जिससे बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई।

बताया गया कि छाता थाना क्षेत्र अंतर्गत नौगांव निवासी राजेन्द्र का तीन वर्षीय पुत्र मंगलवार सुबह घर के बाहर खेल रहा था। तभी गांव का ही युवक कलुआ पंडित अपनी टाटा 407 को तेजी व लापरवाही से चलाता हुआ लाया और उसने घर के बाहर खेल रहे बच्चे को रौंद दिया। दुर्घटना में बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। ड्राइवर गाड़ी छोडक़र फरार हो गया। बच्चे की मौत से उसके घर में कोहराम मच गया। स्थानीय लोगों के मुताबिक गाड़ी चलाते वक्त कलुआ फोन पर बात कर रहा था इसलिए यह हादसा हो गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

Updated : 2016-11-09T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top