Latest News
Home > Archived > भुवनेश्वर के निजी अस्पताल में लगी आग, 23 की मौत

भुवनेश्वर के निजी अस्पताल में लगी आग, 23 की मौत

भुवनेश्वर के निजी अस्पताल में लगी आग, 23 की मौत
X

भुवनेश्वर, 18 अक्टूबर। भुवनेश्वर के नामी-गिरामी सम अस्पताल (SUM Hospital) नामक एक निजी अस्पताल में सोमवार देर शाम आग लग गई। इस दुर्घटना में 23 लोगों की मौत हो गई है तथा 20 से अधिक लोग गंभीर रूप से झुलस गये हैं। आग पर काबू पाने के लिए दमकल विभाग के फायर टेंडर जुटे हुए है। बचाव और राहत कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है।

शुरुआती खबरों में आग लगने का कारण शार्ट सर्किट होना बताया जा रहा है।सोमवार शाम को आईसीयू और डाइलेसिस वार्ड के पास आग लगी। इस संबंध में जानकारी मिलने के बाद अस्पताल प्रशासन ने आग पर काबू पाने के प्रयास किए लेकिन वे सफल नहीं हुए। अग्निशमन विभाग को जानकारी देने के बाद दमकल विभाग की पांच गाडियां घटनास्थल पर पहुंची और आग बुझाने का काम शुरु किया।

अग्निशमन विभाग के महानिदेशक विनय बेहेरा ने कहा कि आग पर काबू पाने के लिए विभाग द्वारा युद्ध स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। अस्पताल के सुपरिटेंडेंट ने बताया कि मरीजों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। ज्यादातर मरीजों की मौत धुंए से दम घुटने के कारण हुई है

कैपिटल अस्पताल के निदेशक बी बी पटनायक ने कहा कि कई पीड़ित सम अस्पताल के आईसीयू में भर्ती थे और जीवन रक्षक प्रणाली पर रह रहे थे। उन्होंने कहा कि नाजुक तौर पर घायल हुए दो मरीजों को कैपिटल अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया है ।

डॉ. पटनायक ने बताया कि कैपिटल अस्पताल के अलावा मरीजों को पास के अमरी अस्पताल, अपोलो अस्पताल, कलिंग अस्पताल, कटक के एससीबी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल और राज्य राजधानी क्षेत्र के कुछ अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया।

सरकारी सूत्रों ने कैपिटल अस्पताल में 14 और आमरी अस्पताल में 8 शव होने की पुष्टि की हैं । इस हादसे में मृतकों की संख्या बढने की आशंका है ।

इस बीच, राज्य सरकार ने घटना की उच्च-स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं। मेडिकल शिक्षा एवं प्रशिक्षण विभाग के निदेशक मामले की जांच करेंगे। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री अतनु एस नायक ने कहा कि यदि अस्पताल अधिकारियों को लापरवाही का दोषी पाया गया तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हादसे पर गहरा दुःख व्यक्त किया है और गंभीर घायलों को इलाज के लिए दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) लाने के निर्देश दिए हैं।

मोदी ने ट्वीट किया, ‘ओड़िशा के अस्पताल में लगी आग में लोगों की जान जाने से काफी दुखी हूं। यह त्रासदी दिमाग को झकझोर देने वाली है। मेरी संवेदनाएं शोकाकुल परिवारों के साथ हैं।’ उन्होंने कहा, ‘स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा से बात की है और उन्हें घायलों को एम्स में भर्ती कराने की व्यवस्था करने को कहा है। उम्मीद है कि घायल लोग जल्द स्वस्थ होंगे।’ मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से भी बात की है और उनसे घायलों एवं प्रभावितों के लिए हरसंभव मदद सुनिश्चित करने को कहा है।’

Updated : 2016-10-18T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top