Top
Home > Archived > देश की पाक व चीन सीमा अतिसंवेदनशील : राजनाथ

देश की पाक व चीन सीमा अतिसंवेदनशील : राजनाथ

देश की पाक व चीन सीमा अतिसंवेदनशील : राजनाथ
X

चंडीगढ़। कैंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सीमा सुरक्षा के मुद्दे पर सोमवार को कहा कि भारत दक्षिण एशिया का अकेला ऐसा देश है जो छह देशों की सीमाओं से घिरा हुआ है। गृहमंत्री ने उत्तर भारतीय समाचार पत्रों के संपादकों के दो दिवसीय सम्मेलन के उदघाटन अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि भारत की भूटान व नेपाल सीमा जहां शांत हैं वहीं बांग्लादेश व म्यांमार की सीमा पर अनियमित तौर पर असामाजिक गतिविधियां होती रहती हैं। इसके उलट चीन व पाकिस्तान की सीमाएं अति संवेदनशील हैं।

राजनाथ सिंह ने वर्ष 2012 से लेकर अब तक हुई घुसपैठ की घटनाओं का ब्योरा पेश करते हुए कहा कि सीमा पार की आतंकी गतिविधियों में पहले के मुकाबले कमी आई है लेकिन देश की संवेदनशील सीमाओं को शांत बनाया जाना जरूरी है।

गृहमंत्री ने कहा कि मौजूदा सरकार और देश के लिए सीमा सुरक्षा सबसे बड़ा मुद्दा है। उन्होंने कहा कि सीमा सुरक्षा के मुद्दे गठित कमेटी अपनी रिपोर्ट दे चुकी है। जिस पर मंत्रालय द्वारा जल्द ही काम शुरू कर दिया जाएगा। राजनाथ ने कहा कि इस रिपोर्ट के आधार भारत की सभी सीमाओं की सुरक्षा का नए सिरे से रिव्यू किया जाएगा। राजनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार प्रभावी बार्डर मैनेजमैंट की दिशा में कई ठोस कदम उठाने जा रही है।

सिंह ने भारत-चीन संबंधों को लेकर चल रही अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा है कि भारत व चीन के बीच संबंध पहले के मुकाबले न केवल बेहतर हैं बल्कि कई मामलों में दोनों देशों की एक राय है। उन्होंने वर्ष 2012 व 2014 की तुलनात्मक रिपोर्ट के आधार पर बताया कि इस अवधि के दौरान चीन की सीमा की तरफ से घुसपैठ की घटनाओं में कमी आई है।

उन्होंने पाकिस्तान को आतंक का प्रर्याय देश करार देते हुए कहा कि आज पाकिस्तान कई मामलों में असुरक्षित व परेशान मुल्क है। पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद को अपनी स्टेट पॉलिसी का हिस्सा बनाए जाने से पूरे विश्व में इसकी किरकरी हो रही है।

Updated : 2016-10-17T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top