Home > Archived > 'आतंकवाद से निपटने में सीसुब की अहम भूमिका

'आतंकवाद से निपटने में सीसुब की अहम भूमिका

राष्ट्र रक्षा के लिए समर्पित है हर जवान, टेकनपुर अकादमी में सहायक कमांडेंट दीक्षांत समारोह आयोजित

ग्वालियर। सीमा सुरक्षा बल ने अपने 50 वर्षीय गौरवमयी इतिहास में अद्म्य साहस का परिचय देने के साथ ही बल के जवानों ने राष्ट्र की रक्षा के लिए अपने प्राणों का उत्सर्ग किया है। इसके लिए पूरा देश सीमा सुरक्षा बल के प्रति हमेशा नतमस्तक रहेगा। यह बात केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने शनिवार को सीसुब अकादमी टेकनपुर में सहायक कमाडेंट दीक्षांत समारोह के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में कही।
श्री रिजिजू ने वर्तमान में समय की वैश्विक समस्या आतंकवाद एवं देश की आतंरिक समस्या नक्सलवाद एक बड़ी चुनौती है। उन्होंने इससे निपटने में सीसुब की भूमिका की प्रशंसा करते हुए कहा कि आने-वाले समय में भी सीसुब मानवीय मूल्यों की स्थापना करने में महती भूमिका निभाएगा। कार्यक्रम में दीक्षांत समारोह स्थल पर पहुंचने से पहले गृह राज्य मंत्री ने अकादमी परिसर में स्थित अजेय प्रहरी शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित किया। इस अवसरपर अपने स्वागत भाषण के माध्यम से अकादमी निदेशक ने मुख्य अतिथि के समक्ष अकादमी की उपलब्धियों एवं संसाधानों की जानकारी दी। इस अवसर महापौर विवेक शेजवलकर, संभागायुक्त केके खरे, जिलाधीश संजय गोयल, पुलिस महानिरीक्षक आदर्श कटियार एवं पुलिस अधीक्षक हरिनायण चारी मिश्रा भी उपस्थित थे।
चार घंटे विलम्ब से पहुंचे गृह राज्यमंत्री
सीसुब अकादमी में दीक्षांत समारोह प्रात: 10 बजे से प्रारंभ होना था लेकिन यह कार्यक्रम मुख्य अतिथि एवं केन्द्रीय मंत्री श्री रिजिजु के देरी से पहुंचने के कारण दो बजे शुरू हो सका। मौसम की खराबी के चलते सुरक्षा कारणों से केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू का विमान दिल्ली से देरी से रवाना हो सका जिसके चलते कार्यक्रम में लगभग चार घंटे का विलम्ब हुआ।
जल,थल,नभ से करूंगा देश की रक्षा
'मैं देश देश के संविधान को साक्षी मानकर जल,थल,नभ आदि से देश की रक्षा करूंगा। इसके साथ ही समय आने पर मातृभूमि पर प्राण उत्सर्ग भी सहजता से करूं गाÓ यह शपथ दीक्षांत समारोह के दौरान सहायक कमांडेट प्रशिक्षणाथियों ने ली। उक्त शपथ के साथ ही वह सीसुब के ध्येय वाक्य जीवन पर्यन्त कर्तव्य के अनुरूप सीसुब के अभिन्न अंग बन गए। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप मेंं उपस्थित केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरन रिजिजू ने इन सेनानियो की दीक्षांत परेड का अवलोकन कर सलामी ली।
श्रेष्ठ प्रशिक्षुओं को किया सम्मानित
दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि द्वारा प्रशिक्षण अवधि के दौरान विभिन्न विधाओं में महारत हासिल करने वाले मनोहर राठौड़ ,पंकज घरे, मोनू यादव, अप्पू कमल, अनिल कुमार चौहान, आदि को सम्मानित किया गया। समारोह के दौरान सीसुब जवानों द्वारा अनेक हैरंतगेज कारनामों का प्रदर्शन भी किया गया।

Updated : 2016-01-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top