Home > Archived > फ्री लांस औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने जमीन चिन्हित

फ्री लांस औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने जमीन चिन्हित

औद्योगिक इकाईयों की समस्याओं के निराकरण के लिए त्रिपक्षीय बैठक आयोजित

ग्वालियर। ग्वालियर क्षेत्र में औद्योगिक इकाईयों को प्रभावी ढंग से अपनी गतिविधियां संचालित करने में आ रही कठिनाईयों के निराकरण के लिए जिलाधीश डॉ. संजय गोयल की अध्यक्षता में त्रिपक्षीय बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें डॉ. गोयल ने बिरलानगर औद्योगिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों की मांग पर तत्काल कार्रवाई करते हुए नाले व औद्योगिक क्षेत्र के प्रवेश द्वारों को अतिक्रमण मुक्त कराने के निर्देश नगर निगम को दिए हैं। इसके साथ ही शहर में फ्री लांस इंडस्ट्रीयल एरिया विकसित करने की मांग पर उन्होंने गोला का मंदिर क्षेत्र के गोसपुरा क्षेत्र की 44 एकड़ जमीन औद्योगिक इकाईयों को दिया जाना प्रस्तावित किया है। उन्होंने कहा कि ग्वालियर के औद्योगिक संस्थान इस जमीन को पसंद करेंगे, तो उसको आईआईडीसी के माध्यम से विकसित कराने का कार्य कराया जाएगा।
इसी प्रकार जिला प्रशासन द्वारा मुरार क्षेत्र के ग्राम खुरैरी के समीप स्थित 80 एकड़ भूमि को भी औद्योगिक क्षेत्र के रूप में विकसित करने के लिए चिन्हित किया गया है। उन्होंने मोहना व घाटीगांव क्षेत्र में द्वितीय स्टोन पार्क विकसित करने के लिए भूमि चिन्हित करने के निर्देश भी अपर कलेक्टर को दिए। बैठक में डॉ. संजय गोयल ने बताया कि नगर पंचायत क्षेत्र बिलौआ में प्लास्टिक पार्क बनाए जाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा जमीन का आवंटन कर दिया गया है तथा आईआईडीसी द्वारा इस जमीन पर प्लास्टिक पार्क विकसित करने के लिए 82 करोड़ रूपए राशि का प्रोजेक्ट तैयार कर मध्यप्रदेश शासन को भेजा जा चुका है। बैठक में चेम्बर ऑफ कॉमर्स, शहर की अन्य स्मॉल इंडस्ट्रीज के प्रतिनिधि व जिला प्रशासन, आईआईडीसी उद्योग विभाग के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
चेम्बर प्रतिनिधियों ने जताई आपत्ति
बैठक में चेम्बर प्रतिनिधियों ने नगर निगम द्वारा सम्पत्ति कर में की गई बढ़ोत्तरी और परिक्षेत्र परिवर्तन किए जाने पर आपत्ति दर्ज कराई। जिस पर डॉ. गोयल ने कहा कि सम्पत्तिकर का निर्धारण करने का अधिकार नगर निगम परिषद को है। व्यापारीगण इसके संबंध में आयुक्त ग्वालियर संभाग के न्यायालय में अपील प्रस्तुत कर सकते हैं।

Updated : 2016-01-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top