Home > Archived > आर्मी चीफ ने सुनाया जवानों को वर्दी में ताली नहीं बजाने का फैसला

आर्मी चीफ ने सुनाया जवानों को वर्दी में ताली नहीं बजाने का फैसला

आर्मी चीफ ने सुनाया जवानों को वर्दी में ताली नहीं बजाने का फैसला
X

नई दिल्ली। थल सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने एक कार्यक्रम में अपने अधिकारियों को आगाह किया है कि वे उनके संबोधन के बाद तालियां बजाएं। कार्यक्रम में उनके संबोधन के फौरन बाद वहां तालियां बजनी शुरू हो गई।
इस पर जनरल सुहाग ने कहा कि मेरे संबोधन के बाद तालियां नहीं बजाया करें। हम यूनीफॉर्म में हैं और इसका शिष्टाचार हमें मानना होगा। ऎसा कहने के बाद जनरल सुहाग को ध्यान आया कि वह ये बात अपने संबोधन के पहले बताना भूल गए थे।उन्होंने रक्षामंत्री मनोहर पर्रीकर की बात का भी जिक्र किया।
गौरतलब है कि पर्रिकर ने पिछले महीने कमांडर्स कॉन्फ्रेंस में अपने संबोधन के बाद कहा था कि, वह ये धारणा रखते हैं कि किसी व्यक्ति के संबोधन के बाद वर्दी में लोग तालियां नहीं बजाते। आर्मी यूनिफॉर्म में ताली बजाना मना है। सिर्फ कहे जाने पर स्टैंडिंग ओवेशन दिया जा सकता है। जिसमें खडा हुआ जाता है और रिदम के साथ तीन बार ताली बजाई जाती है।

Updated : 2015-05-06T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top