Latest News
Home > Archived > भूंकप त्रासदी : भारत - चीन की सेना आई साथ

भूंकप त्रासदी : भारत - चीन की सेना आई साथ

काठमांडू | नेपाल मंगलवार को दोबारा आए भूकंप के बाद बुधवार को भी भूकंप प्रभावित क्षेत्रों में भारतीय सेना नेपाल की सेना के साथ समन्वय और सहयोग से लगातार राहत और बचाव अभियान में जुटी रही। नेपाल में मंगलवार को काठमांडू से 82 किमी पूर्व में कोदारी क्षेत्र में दोपहर 12.35 बजे एक शक्तिशाली भूकंप आया था। भूकंप के बाद राहत कार्यो में तेजी लाते हुए मंगलवार को 19 उड़ानें संचालित कर 44 घायल व्यक्तियों को बचाया गया।इसके साथ ही चार नेपाली सेना के जवानों को ले जाने के साथ दुर्गम क्षेत्रों में 8.08 टन राहत सामग्री वितरित की गई। सेनामंगल में स्थित भारतीय सेना के फील्ड अस्पताल में स्वास्थ्य दल ने 44 बीमार व्यक्तियों का इलाज किया, जिसमें 11 शल्य चिकित्सा आपरेशन भी शामिल हैं।भूकंप के बाद मंगलवार को एमआई-17 हेलीकॉप्टर द्वारा 4 डॉक्टरों और सहयोगी कर्मियों का एक दल स्वास्थ्य सुविधाएं पंहुचाने के लिए चरीकोट भेजा गया। दो मेडिकल दल काठमांडू हवाई अड्डे पर तैनात हैं और नेपाली सेना के साथ समन्वय कर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान कर रहे हैं। इंजीनियर कार्यबल (ईटीएफ) द्वारा भूकंप में ध्वस्त हुई इमारतों को साफ करने का काम किया जा रहा है।ईटीएफ ने नेपाल की सेना के साथ मिलकर एक स्कूल में मलबा निकालने के साथ सूयार्माधी, मूल ढोका और बियासी में 10 मीटर तक मलबे हटाया। भक्तपुर में ईटीएफ ने मंगलवार को मलबे में फंसी 8 महिलाओं को सुरक्षित निकाला और इसके साथ ही 88 अन्य व्यक्तियों को निकालने में सहायता प्रदान की। इसके साथ अभियंताओं ने बारपक में एक घर से मलबा को गिरने से नियंत्रित करने में भी मदद दी।

Updated : 2015-05-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top