Home > Archived > फसल नुकसान का सर्वे पांच तक पूरा करें

फसल नुकसान का सर्वे पांच तक पूरा करें

फसल नुकसान में राहत का प्रावधान राजस्व पुस्तक परिपत्र में जोड़ें

श्योपुर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी जिला कलेक्टरों को ओला वृष्टि और असमय वर्षा से प्रभावित फसलों के नुकसान का सर्वे हर हालत में 5 अप्रैल तक पूरा करने के निर्देश गत दिवस दिए हैं। उन्होंने सर्वे सूची आवश्यक रूप से पंचायत भवन में चिपकाने और किसानों के दावे आपत्तियों का निराकरण तत्काल प्रभाव से करने के भी निर्देश दिए हैं। वे गत दिवस मंत्रालय में वीडियो कांन्फ्रेसिंग के माध्यम से संभागायुक्तों और आपदा प्रभावित जिलों के कलेक्टरों से फसलों के नुकसान तथा आकलन सर्वेक्षण की जनभागीदारी आधारित प्रक्रिया और गेहूँ खरीदी की व्यवस्था के संबंध में चर्चा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने जिलेवार कलेक्टरों से विस्तृत चर्चा की। उन्होंने ओला प्रभावित क्षेत्रों में अपने दौरे के समय किसानों द्वारा बताई गयी समस्याओं के निराकरण के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वे पुनरू गाँवों का दौरा करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि फसलों का सर्वे मानवीय दृष्टिकोण और किसानों को संकट में भरपूर सहयोग देने के इरादे से किया जाना चाहिये।
किसानों को ज्यादा से ज्यादा राहत देने के लिये राजस्व पुस्तक परिपत्र में व्यापक संशोधन किये गये हैं। उन्होंने असमय वर्षा से होने वाले नुकसान में राहत देने के प्रावधान को भी राजस्व पुस्तक परिपत्र में जोडऩे के निर्देश दिये। उन्होंने फीकी चमक वाले और पतले गेहूँ के दाने की भी खरीदी करने के निर्देश दिये हैं।

Updated : 1 April 2015 12:00 AM GMT
Next Story
Top