Top
Home > Archived > दलालों के हवाले मूलनिवासी और जाति प्रमाण पत्र

दलालों के हवाले मूलनिवासी और जाति प्रमाण पत्र

ग्वालियर। यदि आप नियमानुसार मूलनिवासी और जाति प्रमाणपत्र बनवाने जा रहे हैं तो यह काम आपके लिए मुश्किल हो सकता है। आपका यही काम तहसील कार्यालय में सक्रिय दलाल बहुत ही आसानी से करा सकते है, लेकिन इसके लिए आपको अपनी जेब हल्की करना पड़ेगी, फिर भी यह गांरटी नहीं है कि आपको जो प्रमाण पत्र मिला है वह असली है या नकली।
महाराज बाड़ा स्थित गोरखी तहसील कार्यालय में यह धंधा खुलेआम चल रहा है। तहसील में मूलनिवासी या जाति प्रमाण बनवाने के लिए आने वाले लोगों को नियमानुसार प्रमाणपत्र बनवाने के लिए कई दिनों तक चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। जबकि यही काम तहसील में सक्रिय दलाल मात्र दो दिन में करवा देते हैं। तहसील कार्यालय में प्रमाण पत्र बनवाने के लिए सिर्फ एक शपथ देना पड़ता है। सूत्रों की माने तो यही काम दलालों द्वारा मात्र 500 रूपए में किया जा रहा है।
यह काम यहां प्रशासनिक अधिकारियों की नाक के नीचे ही बेरोकटोक जारी है। परिसर में फैले दलालों की वजह से यह पैसे सरकारी कोष में न जाकर दलालों की जेब में जमा हो रहा है। जिस पर प्रशासन का ध्यान नहीं जा रहा है। जिसकी वजह से यह पैसा सीधे-सीधे दलालों की जेब में जा रहा है। शहर में कुल 5 लोक सेवा केन्द्र स्थापित हैं। लोक सेवा केन्द्र के माध्यम से आय, जाति, निवास, जन्म-मृत्यु सहित विभिन्न प्रकार की नि:शुल्क सेवाएं उपलब्ध हंै।

Updated : 2015-12-01T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top