Home > Archived > फर्जी राशन कार्डों पर महीनों से वितरित हो रहा था राशन

फर्जी राशन कार्डों पर महीनों से वितरित हो रहा था राशन

जांच के बाद एसडीएम ने दुकान की निलंबित

डबरा। गरीबों के नाम से फर्जी बीपीएल एंव अत्योदंय कार्ड बनाकर हर माह सस्ते अनाज की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। फर्जी राशन कार्डों के आधार पर राशन की दुकान से प्रतिमाह राशन निकाला जा रहा था। यह राशन कहां जा रहा था, इसकी जांच की जा रही है फिलहाल एसडीएम ने रामगढ़ की सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकान सील्ड कर जांच करने के निर्देश खाद्य एंव आपूति अधिकारी को दियें हैं।
तत्कालीन ग्राम पंचायत रामगढ़ द्वारा ऐसे राषन कार्ड जारी किए थे जो लोग उस ग्राम पंचायत क्षेत्र में निवासरत ही नहीं है या मर चुके हैं जिनके कार्डों पर प्रतिमाह राशन लिया जा रहा था जिसकी शिकायत एसडीएम डॉ. पंकज जैन तक पहुंची जिस पर उन्होंने शुक्रवार को रामगढ़ की राशन दुकान से रिकार्ड जब्त कर वितरित किए राशन की जांच करने के निर्देश खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी को दिए जिस पर कनिष्ठ खाद्य एंव आपूर्ति अधिकारी पीके मिश्रा एंव संदीप पाण्डेय द्वारा वितरित किये गये राशन की जांच हेतु राषनकार्डो का सत्यापन किया गया जहां छोले वाली दफाई पर के निवास क्षेत्र से जारी राशन कार्डों में से 32 राषन कार्ड ऐसे पाये गये, जो लोग वहां निवासरत नहीं थे या मर चुके थे जिनके नाम से राशन हर माह लिया जा रहा था। फर्जी राशन कार्डों पर वितरण एवं फर्जी राशन कार्ड पाए जाने पर दुकान को निलम्बित कर दिया गया एवं दुकान संचालक के खिलाफ अभियोजन की कार्रवाई की जा रही है। वहीं खाद्य विभाग जांच कर रहा है कि फर्जी राशन कार्डों से किसने राशन लिया है।

Updated : 30 Nov 2015 12:00 AM GMT
Next Story
Top