Home > Archived > फर्जी तरीके से लॉटरी चलाता युवक पकड़ा

फर्जी तरीके से लॉटरी चलाता युवक पकड़ा

श्योपुर। लकी ड्रा के माध्यम से लखपति बनाने का सपना दिखाकर लोगों से रुपए ऐंठने वाले एक शातिर युवक को कोतवाली पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस ने इस मामले में प्रकरण कायम कर मामले की विवेचना शुरू कर दी है।
जानकारी के अनुसार कोतवाली नगर निरीक्षक सतीश चौहान को मुखबिर के माध्यम से सूचना मिली कि शहर की भोलीभाली जनता को लकी ड्रॉ कूपन के माध्यम से ड्रॉ खोलकर लखपति बनाने का ख्वाब दिखाकर लॉटरी चलाई जा रही है, इस सूचना पर पुलिस की एक टीम ने धरपकड़ कार्यवाही को अंजाम देते हुए लॉटरी के लकी ड्रॉ का कूपन काटते एक युवक को पकड़ लिया। युवक से पूछताछ के दौरान उक्त युवक ने अपना नाम प्रदीप पुत्र कन्हैयालाल शिवहरे 19 वर्ष निवासी गांधी नगर श्योपुर बताया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ चार मध्यप्रदेश लॉटरी प्रतिबंधित अधिनियम 1993 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।
501 सदस्य बनाने थे
दीपावली की धनतेरस से आरंभ होने वाली लॉटरी के लिए प्रदीप 501 सदस्य बना रहा था तथा लॉटरी में शामिल प्रत्येक सदस्य से वह हर माह 15 महीने तक 1100 रुपए लकी ड्रा की रसीद काटता था। प्रदीप ने बताया कि वह लकी ड्रॉ कूपन में शामिल होने वाले 500 लोगों का ड्रा खोलता, जिसमें पहले व अंतिम ड्रा की कीमत दो लाख रुपए होती।
खिलाने वालों की है भरमार
शहर में लकी ड्रा, बोली समेत तमाम तरह की लॉटरी चलाने वाले लोगों की भरमार है, जिसमें लॉटरी चलाने वाले लोगों के बारे-न्यारे हो रहे है। सूत्रों का कहना है कि शहर में प्रतिबंध के बावजूद लॉटरी का कारोबार फलफूल रहा है।
इनका कहना है
लकी ड्रा के नाम पर फर्जी व अवैध रूप से लॉटरी चलाने के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार किया है, जिससे नगदी राशि, कूपन, पर्ची व रजिस्टर बरामद किए हैं। मामला कायम कर जांच आरंभ कर दी है।
सतीश चौहान, नगर निरीक्षक, कोतवाली श्योपुर

Updated : 2015-11-03T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top