Latest News
Home > Archived > मंडी से किसान की उड़द गायब

मंडी से किसान की उड़द गायब

नाराज किसानों ने व्यापारी फड़ पर किया हंगामा

अशोकनगर | सोमवार को गल्ला मण्डी में एक व्यापारिक फर्म से उड़द से भरा एक कट्टा गायब हो गया। जिससे नाराज किसानों ने व्यापारिक फर्म के मण्डी स्थित फड़ पर हंगामा करना शुरू कर दिया। किसानों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए मण्डी प्रशासन मौके पर पहुंचा और मामले को शांत कराने का प्रयास किया। मगर किसान ट्राली में रखे उड़द के कट्टे चुराने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की जिद पर अड़ गए।
जानकारी लगने के बाद भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियों ने पहुंचकर व्यापारिक फर्म पर कार्रवाई की मांग करना शुरू कर दिया। इस संबंध में बताया गया है कि ग्राम छापर निवासी मेहरबान सिंह रघुवंशी ट्रैक्टर-ट्राली से उड़द की उपज बेचने मण्डी में आए हुए थे। डाक बोली के बाद उड़द व्यापारिक फर्म बाबूलाल-चके्रशकुमार के मण्डी स्थित फड़ क्रमांक 99 में उड़द तुलवाने के लिए पहुंच गए। जहां देखते ही देखते ट्रैक्टर-ट्राली में रखे उड़द के तीन कट्टों में से एक कट्टा गायब हो गया। जैसे ही किसान ने कट्टा गायब होने की बात तुलावटों और हम्मालों से की तो वह मना करने लगे। जब किसान ने व्यापारिक फर्म के मुनीम से बातचीत की तो वह भी उलटा नाराज होने लगे। जिससे किसान की बहस सुनकर अन्य किसान नाराज हो गए और उन्होंने वहां हंगामा शुरू कर दिया। किसान मेहरबान सिंह का कहना था कि व्यापारी के फड़ पर मौजूद व्यक्ति ने उलटा उनको ही धमकाना शुरू कर दिया। मौके पर पहुंचे मण्डी समिति के अधिकारी और सदस्यों ने व्यापारी फर्म के मुनीम, किसानों को समझाने का प्रयास किया। मगर वे माल वापस दिलाने और व्यापारिक फर्म पर कार्रवाई करने की मांग पर अड़े रहे। करीब घण्टाभर से ज्यादा देर तक चले से इस विवाद का आखिरकार मण्डी समिति और भाकिसं के पदाधिकारियों, किसानों के बीच बैठकर समाधान हुआ। जिसमें व्यापारिक फर्म से किसान को उड़द वापस दिलाने का समझौता हुआ।

मण्डी में बढ़ रहीं हैं घटनाएं:
गल्ला मण्डी में बीते कुछ समय से किसानों की उपज गायब होने के मामले बढ़ रहे हैं। सोमवार को ग्राम छापर से आए किसान का यह पहला मामला नही था। इससे पहले भी इस तरह की घटनाएं हुई हैं। मण्डी प्रशासन द्वारा किसान और व्यापारिक फर्म के बीच समझौता भी करवा दिया है। मगर आगामी दिनों में ऐसी घटनाएं न हो इसके लिए कोई ठोस कदम नही उठाए जा रहे हैं।
भाकिसं ने जताया विरोध:
सोमवार को उड़द का कट्टा गायब होने और किसान के साथ फड़ पर हुए दुव्र्यवहार पर विरोध जताया है। भाकिसं के जिला मंत्री रामकिशन सिंह रघुवंशी सहित अन्य पदाधिकारियों ने भविष्य में ऐसी घटनाएं न होने और संबंधित फड़ पर कार्रवाई की मांग की है। भाकिसं का आरोप है कि पूर्व में भी उक्त फड़ पर ऐसे विवाद हो चुके हैं।
इनका कहना है:
ट्राली से एक कट्टा उड़द का गायब होने के मामले में व्यापारी फर्म और किसान के बीच समझौता करा दिया गया है। किसान को अन्य दो कट्टा के वजन अनुसार तीसरे कट्टा का पैसा दिलाया जा रहा है।
एमपी शर्मा, सचिव
मण्डी समिति अशोकनगर

Updated : 2015-11-17T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top