Top
Home > Archived > दो गुटों के संघर्ष में चलीं बंदूक और तलवार

दो गुटों के संघर्ष में चलीं बंदूक और तलवार

तीन जख्मी, एक को उपचार के लिए ग्वालियर भेजा

शिवपुरी। रन्नौद थाना क्षेत्र के ग्राम बामौर मं दो गुटों के बीच हुए संघर्ष में खुलकर बंदूक और तलवार चलीं। जिसमें तीन लोग घायल हो गए। जिसमें एक घायल की हालत गंभीर है।
रन्नौद थाना क्षेत्र के ग्राम बामौर में कल शाम यादवों और राजावतों में खेत में गाय घुसने को लेकर विवाद हो गया और इस मामूली विवाद में बड़ा रूप धारण कर लिया। इस घटना में यादव पक्ष की ओर से तीन सगे भाई गंभीर रूप से घायल हो गए जिनमें से एक को गोली लगी हैं। जबकि दो को तलबार की गंभीर चोटें हैं जिसमें से एक को ग्वालियर रैफर किया गया है। जबकि दूसरे पक्ष की ओर से एक युवक को मामूली चोटें आई हैं। पुलिस ने इस मामले में क्रास कायमी कर ली हैं। जबकि यादव पक्ष पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही से असंतुष्ट है और उन्होंने पुलिस पर दूसरे पक्ष से सांठ गांठ करने का आरोप लगाया है और कहा है कि पुलिस ने आरोपियों पर हत्या प्रयास का मामला दर्ज नहीं किया है। वहीं घटना कारित करने वाले जुमान सिंह राजावत, बल्ले राजावत और गुड्डू राजावत का नाम भी एफआईआर में नहीं जोड़ा गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार घायल संजू, रिंकू, सतीश पुत्रगण नीलम यादव निवासी ग्राम बामौर कल अपने खेत से घास निकाल रहे थे। तभी उनकी एक गाय चरते चरते पड़ौसी दिलीप राजावत के खेत में घुस गई। जिस पर दिलीप ने गाय को डंडे मारकर भगा दिया। इसके बाद आरोपी दिलीप संजू के पास पहुंचा और उससे शिकायत की तो संजू ने मांफी मांगी। उस समय यह विवाद थम गया, लेकिन इस घटना के कुछ समय बाद दिलीप अपने भाई गिरवर, बल्ले और अपने पिता जुमान सिंह के साथ मित्र विनोद, महेन्द्र, गुड्डू राजावत, शिवकुमार तिवारी, विष्णु उर्फ पप्पू योगी, राकेश राजावत के साथ हथियारों से लैस होकर संजू के खेत पर पहुंचे जहां उन्होंने संजू के साथ-साथ उसके दो भाई रिंकू और सतीश पर हमला बोल दिया। इसी बीच आरोपी दिलीप ने 12 बोर की बंदूक से संजू पर फायर कर दिया जिसके छर्रे संजू के पैर में लग गए और वह घायल हो गया। इसी बीच गिरवर और महेन्द्र ने भी फायर करना शुरू कर दिये। और अन्य लोगों ने तलबारों से रिंकू और सतीश पर बार कर दिया। जिससे रिंकू और सतीश का हाथ कट गया। बाद में सभी लोग वहां से भाग निकले। इस पूरे मामले में पुलिस ने यादव समुदाय की फरियाद पर से आरोपी गिरवर पुत्र जुमान सिंह, दिलीप पुत्र जुमान सिंह, नरेन्द्र विक्रम सिंह, मुन्ना, विनोद सिंह राजावत, महेन्द्र, शिवकुमार तिवारी, विष्णु उर्फ पप्पू योगी, राकेश राजावत के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 323, 294, 324, 506 बी का प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया। जबकि दूसरे पक्ष की ओर से संजू, रिंकू, सतीश और अशोक के खिलाफ धारा 323, 294 का प्रकरण पंजीबद्ध किया है।
जुमान सिंह के रिश्तेदार हैं थाना प्रभारी इस कारण नहीं जोड़ा नाम: संजू
घटना में गोली लगने से घायल संजू यादव पुत्र नीलम यादव ने रन्नौद थाना प्रभारी देवेन्द्र सिंह जादौन पर आरोप लगाया है कि घटना में शामिल जुमान सिंह, गुड्डु और बल्ले का नाम एफआईआर में इसलिए नहीं जोड़ा गया क्योंकि ये तीनों उनके रिश्तेदार हैं और इसी कारण पुलिस ने एफआईआर लिखने में पांच घंटे लगा लिए। इस दौरान मेरा पूरा परिवार रात तक थाने में बैठा रहा, रात में जब सभी लोग एकत्रित होकर पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचे तब रन्नौद पुलिस ने मामला दर्ज किया। लेकिन आरोपियों पर हत्या प्रयास का मामला अभी तक दर्ज नहीं किया गया है।

इनका कहना है


मैने किसी के साथ भेदभाव नहीं किया ना ही मेरा कोई रिश्तेदार हैं मेरे ऊपर जो सांठ गांठ के आरोप लगाये जा रहे हैं वह झूठे और निराधार हैं, रही बात हत्या प्रयास की धारा 307 का इजाफा करने की तो वह मेडीकल रिपोर्ट आने के बाद ही बढ़ाई जा सकेगी। इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से प्रकरण दर्ज किये गए हैं और जांच के बाद जिनके भी नाम सामने आयेंगे उन्हें जोड़ दिया जाएगा।
देवेन्द्र सिंह जादौन
थाना प्रभारी रन्नौद

Updated : 2015-10-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top