Latest News
Home > Archived > मुक्तिधाम में जलाए यूपीएससी के पांच हजार प्रश्न-पत्र

मुक्तिधाम में जलाए यूपीएससी के पांच हजार प्रश्न-पत्र

ग्वालियर । विगत 24 अगस्त को संपन्न हुई संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा के ग्वालियर जिले के बचे हुए करीब पांच हजार प्रश्न पत्रों को बुधवार को मुक्तिधाम में शवों के चबूतरे पर रखकर आग के हवाले किया गया। एसडीएम एच.एस.भदौरिया की देखरेख में हुए इस कार्य में नियमों की अनदेखी किए जाने की बात भी कही जा रही है।
बुधवार की दोपहर सूचना मिली थी कि एसडीएम एच.एच.भदौरिया ने यूपीएससी के बचे हुए करीब पांच हजार प्रश्रपत्रों को लोडिंग ऑटो में लदवाकर लक्ष्मीगंज शमशान घाट पहुंचवाया है। यह इन पेपरों के विनिष्टीकरण में नियमों की अनदेखी की गई है। सूचना लगते ही कुछ प्रेसकर्मी यहां पहुंचे तो यूपीएससी के पेपर शमशान के तीन मुड्डियों पर धधकते हुए मिले। इन्हें बिजली और कंडों से शवदाह के लिए बनी तीन नई मुड्डियों में भरकर जलाया गया। हालांकि पेपरों के विनिष्टीकरण प्रक्रिया में एसडीएम भदौरिया यहां एक कक्ष में उपस्थित रहे। श्री भदौरिया का कहना था कि आयोग के आदेश पर इन पेपरों का विनिष्टीकरण कराया जा रहा है। हालांकि आयोग के आदेश की प्रति वे नहीं दिखा सके।
सरकारी एम्बूलेंस में ले जाए गए पेपर
यूपीएसई के बुधवार को विनिष्ट किए गए पेपरों को गुपचुप तरीके से लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम तक ले जाया गया। पेपरों को ले जाने के लिए लोडिग के रूप में सरकारी एम्बूलेंस क्रमांक एमपी 02 एव्ही 2938 का उपयोग किया गया। जबकि आधा दर्जन कर्मचारी इन पेपरों को लेकर जलाने पहुंचे।
नियमों की अनदेखी हुई?
संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा के बचे हुए पेपर आयोग को वापस किए जाते हैं। अगर आयोग लिखित आदेश करता है तो इन पेपरों को विधिवत रूप से विनिष्ट करने का प्रावधान है। जानकार बताते हैं कि इस तरह के दस्तावेजों के निनिष्टीकरण के लिए पांच सदस्यीय समिति बनाई जाती है। इस समिति के निर्देशन में ही इनका विधिवत रूप से विनिष्टीकरण कराया जाता है।
''आयोग के आदेश पर ही इन बचे हुए करीब पांच हजार पेपरों का विनिष्टीकरण कराया गया है। मैंने जनसंपर्क विभाग को इसकी सूचना दी थी लेकिन वे नहीं पहुंच सके।
एच.एस.भदौरिया
अनुविभागीय अधिकारी मुरार ग्रामीण ग्वालियर 

Updated : 2014-09-04T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top