Home > Archived > फार्म में वापसी करके खुश हैं एलिस्टेयर कुक

फार्म में वापसी करके खुश हैं एलिस्टेयर कुक

साउथम्पटन | एलिस्टेयर कुक केवल पांच रन से अपना 26वां टेस्ट शतक बनाने से चूक गये लेकिन इंग्लैंड के कप्तान ने कहा कि भले ही यह निराशाजनक था लेकिन खराब फार्म से वापसी करने के कारण वह खुश हैं। कुक ने 95 रन बनाकर फार्म में वापसी की जबकि युवा गैरी बैलेन्स ने नाबाद 104 रन बनाये जिससे इंग्लैंड ने तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में पहले दिन का खेल समाप्त होने पर दो विकेट पर 247 रन बनाये। कुक ने दिन का खेल समाप्त होने के बाद कहा, ‘मिश्रित भावनाएं हैं। शतक से पांच रन चूकना निराशाजनक रहा। लेकिन यदि कल कोई मुझे 95 रन देता तो मैं उन्हें खुशी खुशी लेता। इसलिए मैं इन 95 रन को बनाकर बहुत खुश हूं। ’ इंग्लैंड के कप्तान से पूछा गया कि क्या उन्होंने अपनी बल्लेबाजी में कुछ बदलाव किया, उन्होंने कहा, ‘मैं गेंद का काफी ज्यादा पीछा करने लग गया था और मैंने इसमें बदलाव किया।’ कुक का यह पिछली 28 पारियों में उच्चतम स्कोर है। उन्होंने अपना आखिरी शतक मई 2013 में न्यूजीलैंड के खिलाफ लगाया था। कुक हालांकि जब 15 रन पर थे तब अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे पंकज सिंह की गेंद पर रविंद्र जडेजा ने उनका आसान कैच छोड़ दिया था।
क्या उन्होंने आखिकार अपने आलोचकों को जवाब दे दिया है, इस पर कुक ने कहा, ‘आप प्रत्येक को कभी चुप नहीं करा सकते हो। लोगों ने मेरा मनोबल बढ़ाया और उन्हें निराश करना निराशाजनक था। यह टीम के लिये योगदान से जुड़ा है। जब आप बल्लेबाज होकर तमाम समर्थन के बावजूद रन नहीं बनाते हो तो हताशा होती है। ’ कुक ने इसके साथ ही बैलेन्स की भी तारीफ की जिन्होंने अपना तीसरा शतक लगाया। उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है कि वह प्रत्येक पारी में एक जैसी बल्लेबाजी करता है और यह काफी प्रभावजनक है। जब वह पहली बार टीम में आया था तो थोड़ा नर्वस था लेकिन अब उसने अपने पांव जमा लिये हैं और उसकी तकनीक भी अच्छी है। 

Updated : 28 July 2014 12:00 AM GMT
Next Story
Top