Top
Home > Archived > दिनदहाड़े मोटर साईकिल सवार को लूटाबीस

दिनदहाड़े मोटर साईकिल सवार को लूटाबीस

दिन में लूट की चौथी वारदात, जनता दहशत में

लहार। लहार क्षेत्र में लूट, चोरी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। लहार अनुविभाग के अंदर बीस दिन में आधा दर्जन चोरी की घटनाएं व चार बार सरेआम दिनदहाड़े लूट की जा चुकी है। शुक्रवार को दोपहर दबोह थाना से मात्र आधा कि.मी. दूर वेयर हाउस के पास से एक मोटर साइकिल सवार को तीन बदमाशों ने लूट लिया और भाग निकले। मगर इलाके की पुलिस न तो एक भी चोरी का पता लगा सकी और न ही लूट के आरोपी को पकड़ सकी। इससे पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवालिया निशान लगते जा रहे है और चोर लुटेरों के हौंसले बुलंद होते चले जा रहे है। इन घटनाओं से आम नागरिक अपने को असुरक्षित महसूस करने लगा है और पुलिस से भरोसा उठने लगा है। लगातार क्षेत्र में हो रही इस तरह की घटनाओं से इलाके लोग दहशत में है।
जानकारी के अनुसार दबोह कस्बे से मात्र सौ मीटर की दूरी पर दोपहर दो बजे के लगभग बीसनपुरा निवासी जयसिंह पुत्र शीतल प्रसाद अपनी मोटर साइकिल से घर को निकले ही थे कि पीछे से आ रहे तीन मोटर साइकिल सवारों ने ओवरटेक कर उनकी मोटर साइकिल रोककर उनसे गाली गलौच करने लगे और उसकी मोटर साइकिल की हवा निकालकर उनसे 30 हजार की नगदी लूटकर फरार हो गए। बताया गया कि लुटेरे काली रंग की मोटर साइकिल पर आए थे। घटना को अंजाम देने के बाद वे नदीगांव रोड की तरफ भाग गए। उस समय खास बात देखने को यह मिली कि लहार के आसपास पुलिस के कई अधिकारी व जवान सर्चिंग पर थे मगर लुटेरों के हौंसले फिर भी बुलंद माने गए कि उन्होंने बेपरवाह होकर इतनी बड़ी घटना को अंजाम दे दिया।
ज्ञात हो कि इससे पहले 25 मई को भी दिनदहाड़े दबोह के एक व्यापारी से मसेरन मोड़ से छह लाख रुपए लूट लिए थे। इसके बाद उसी जगह से चार जून को शादी में जा रहे एक दंपति से आभूषण लूट लिए थे, उधर आलमपुर कस्बे में गल्ला व्यापारी से लूट की वारदात को अंजाम दिया जा चुका, मगर पुलिस पिछली एक भी लूट का पता नहीं लगा सकी और लुटेरों ने यह चौथी घटना को अंजाम दे डाला। क्या पुलिस प्रशासन इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लगा पाएगी या फिर यह इलाका चोर लुटेरों के हवाले ही रहेगा।

Updated : 2014-06-14T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top