Home > Archived > फिर जायका बिगाड सकता है प्याज

फिर जायका बिगाड सकता है प्याज

फिर जायका बिगाड सकता है प्याज
X

नई दिल्ली। देश के कई हिस्सों में हाल में हुई बेमौसम की बारिश और ओले पडने से रबी सीजन की प्याज और प्याज सीड की 10 से 15 फीसदी सफल खराब हो गई है। हालांकि प्याज को हुए नुकसान से इसकी कीमतों या देश में इसकी सप्लाई पर असर पडने की आशंका है।
देश के 2 सबसे बडे प्याज उत्पादक राज्य महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में रबी और खरीफ सत्र में होने वाले प्याज के उत्पादन में कमी आने की बात कही जा रही है। महाराष्ट्र में ही सबसे ज्यादा प्याज का उत्पादन और भंडारण होता है। लिहाजा पैदावार में कमी का असर इसके भंडारण पर भी पडने की आशंका है। जून से प्याज खपत की पूर्ति भंडारगृहों से होती है।
शुरूआती अनुमान के मुताबिक वर्ष 2013-14 में करीब 190 लाख टन प्याज पैदा होने की उम्मीद थी लेकिन नुक्सान के बाद अब इसमें 10 से 15 प्रतिशत कमी आ सकती है। राष्ट्रीय बागवानी अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान के अनुसार ओले और बारिश से महाराष्ट्र के नासिक, अहमदनगर, पुणे और सोलापुर जिलों में रबी और खरीफ (देर से बोई जाने वाली) सत्र वाली प्याज को नुक्सान हुआ है। हालांकि जानकारों का कहना है कि उत्पादन के नुक्सान से आगे जुलाई में प्याज की कीमतों में तेजी की सम्भावना है।

Updated : 2014-04-06T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top