Latest News
Home > Archived > भारतीय संविधान का पहला अरबी अनुवाद जारी

भारतीय संविधान का पहला अरबी अनुवाद जारी

भारतीय संविधान का पहला अरबी अनुवाद जारी
X

काहिरा | भारतीय संविधान के मसौदे और लोकतांत्रिक संस्थाओं को बनाए रखने में इसके योगदान की सराहना के बीच इसका पहला अरबी अनुवाद जारी किया गया।यह आयोजन कल लीग ऑफ अरब स्टेट्स के सचिवालय में किया गया। भारतीय दूतावास ने लीग ऑफ अरब स्टेट्स के साथ मिलकर यह आयोजन किया। अरब लीग के महासचिव नाबिल अल अरबी ने विदेश मंत्रालय के सचिव [पूर्वी] अनिल वाधवा के साथ मिलकर संविधान का अनुवाद जारी किया।
मिस्र में भारत के राजदूत नवदीप सूरी ने संविधान का अनुवाद जारी किए जाने को एक वास्तविक मील का पत्थर बताया। इस सत्र की अध्यक्षता करने वाले महासचिव नाबिल अल अरबी ने भारत के संविधान निर्माताओं के प्रयासों की ऐसा संविधान तैयार करने के लिए सराहना की जो समाज के सभी वर्गों की आकांक्षाओं को पूरा करता है और वृहद स्तर पर भाषाई, धार्मिक और जातीय विविधताओं को चित्रित करता है। वाधवा ने उम्मीद जताई कि यह आयोजन उन कई विद्वतापूर्ण गोष्ठियों में से एक होगा, जिनका आयोजन भविष्य में किया जाएगा।

Updated : 2014-12-09T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top