Home > Archived > भविष्य में भारत का तेज आक्रमण सर्वश्रेष्ठ होगा: ईशांत

भविष्य में भारत का तेज आक्रमण सर्वश्रेष्ठ होगा: ईशांत

भविष्य में भारत का तेज आक्रमण सर्वश्रेष्ठ होगा: ईशांत
X


नई दिल्ली |
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा टेस्ट श्रृंखला में भारतीय तेज गेंदबाजों के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए ईशांत शर्मा ने कहा कि भविष्य में भारत का तेज आक्रमण सर्वश्रेष्ठ होगा। चोट के कारण भुवनेश्वर कुमार के पहले दो टेस्ट से बाहर होने के बाद टीम प्रबंधन ने पहले मैच में मोहम्मद शमी, वरुण आरोन और ईशांत को उमेश यादव पर तरजीह दी। ईशांत का मानना है कि नये तेज गेंदबाजी काफी कुशल हैं। उन्होंने बीसीसीआई टीवी से कहा कि मेरे हिसाब से तो यह भविष्य में भारत का सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजी आक्रमण होगा। मुझे नहीं लगता कि कोई और उदीयमान गेंदबाज है जो नियमित रूप से 140 से अधिक रफ्तार से गेंदबाजी करता है। उन्होंने कहा कि रफ्तार के अलावा आपको अपने खेल, शरीर और हालात के अनुरूप ढलने की जानकारी होनी चाहिये। इससे गेंद पर अधिक नियंत्रण बनेगा। नियंत्रण के साथ रफ्तार काफी असरदार होती है। यह बातें अनुभव से ही सीखी जाती हैं। शमी और आरोन ने पहले दिन दो दो विकेट लिये लेकिन पहले स्पैल में डेविड वार्नर को जीवनदान दिया। ईशांत ने कहा कि युवा गेंदबाज अनुभव के साथ सीखेंगे। उन्होंने कहा कि यह ऑस्ट्रेलिया का उनका पहला दौरा है। उन्हें नहीं पता कि ऑस्ट्रेलियाई कितनी आक्रामक बल्लेबाजी करते हैं। उनके खिलाफ गलती की गुंजाइश नहीं होती। ईशांत ने कहा कि हमारे तेज गेंदबाजों को शुरू में नहीं लगा कि विकेट इतना धीमा होगा, चूंकि ऑस्ट्रेलियाई पिचों में अधिक रफ्तार और उछाल होती है। बाद में उन्हें पता चला और उन्होंने उसके अनुसार खुद को ढाला। वे समय के साथ सीख जायेंगे। अपने सात साल के कैरियर में दुनिया भर में खेल चुके ईशांत ने कूकाबूरा गेंद से खेलने के बारे में टिप्स भी दिये। उन्होंने कहा कि आपको बल्लेबाज की कमजोरी तलाशकर उसके अनुसार गेंदबाजी करनी चाहिये और लगातार ऐसा करना चाहिये। जब विकेट या गेंद से मदद नहीं मिले तो अपनी ताकत पर भरोसा करके विरोधी की कमजोरी भांपते हुए गेंदबाजी करें।

Updated : 10 Dec 2014 12:00 AM GMT
Next Story
Top