Home > Archived > फिर उठी मांग, 'प्रियंका लाओ, देश बचाओ'

फिर उठी मांग, 'प्रियंका लाओ, देश बचाओ'

फिर उठी मांग, प्रियंका लाओ, देश बचाओ
X

नई दिल्ली | महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनावों के अब तक मिले रूझान में कांग्रेस की करारी हार के संकेतों के बीच, पार्टी कार्यकर्ताओं के एक समूह ने पार्टी कार्यालय के बाहर एकत्रित होकर मांग की कि प्रियंका गांधी सक्रिय राजनीति में आएं।
यह पहली बार नहीं है जब इस तरह की मांग की गई लेकिन प्रियंका इससे बार बार इंकार कर चुकी हैं। प्रियंका ने कुछ समय पहले बयान जारी करके लोगों से इन तरह की अटकलों से दूर रहने का अनुरोध किया था। पार्टी के 200 से 250 कार्यकर्ता हाथों में पोस्टर लेकर आए जिन पर लिखा था, ‘प्रियंका लाओ, कांग्रेस बचाओ’। इन कार्यकर्ताओं ने पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी से अपनी बहन को राजनीति में लाने के लिए पहल करने के लिए कहा।
कांग्रेस कार्यालय के बाहर एक कार्यकर्ता ने कहा, ‘हम राहुल जी से अपील करते हैं कि वह प्रियंका गांधी को ऐसे समय कांग्रेस की सक्रिय राजनीति में लाएं जब पार्टी मुश्किल दौर से गुजर रही है। वह (प्रियंका) नरेंद्र मोदी की कूच को रोकने में उनकी मदद कर सकती हैं।’ कुछ कार्यकर्ताओं ने कहा कि अगर प्रियंका को लाकर दोनों राज्यों में प्रचार कराया गया होता तो महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनावों के परिणाम कुछ और होते।
इस समूह का नेतृत्व करने वाले इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस के नेता जगदीश शर्मा ने कहा कि चुनावों में पार्टी की निरंतर हार के बाद अब यह जरूरी है कि पार्टी के बेहतर भविष्य के लिए प्रियंका को सक्रिय राजनीति में लाया जाए। इंटक के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शर्मा ने कहा, ‘अगर प्रियंका गांधी ने महाराष्ट्र और हरियाणा में पार्टी के लिए प्रचार किया होता तो परिणाम कुछ और होते। लोकसभा चुनावों में, नरेंद्र मोदी लहर की बात हो रही थी। उस समय प्रियंका गांधी ने रायबरेली और अमेठी में प्रचार की जिम्मेदारी संभाली और कांग्रेस ने वहां जीत दर्ज की।’’ उन्होंने कहा कि पार्टी के इस तरह के नतीजों से कांग्रेस कार्यकर्ता दुखी हैं और उन्हें लगता है कि यह समय है जब प्रियंका को कांग्रेस में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाए। प्रियंका ने अगस्त में कांग्रेस में महत्वपूर्ण पद लेने के बारे में अटकलों को ‘आधारहीन अफवाह’ बताकर खारिज किया था।

Updated : 19 Oct 2014 12:00 AM GMT
Next Story
Top