Latest News
Home > Archived > भारत के साथ खत्म हो रहा है गतिरोधः अमेरिका

भारत के साथ खत्म हो रहा है गतिरोधः अमेरिका

भारत के साथ खत्म हो रहा है गतिरोधः अमेरिका
X

वॉशिंगटन | अमेरिका ने उम्मीद जताई है कि भारत की वरिष्ठ राजनयिक की गिरफ्तारी से पैदा हुए संकट का जल्द अंत होगा। इसके साथ ही उसने कामकाज के फिर से पटरी पर लौटने और द्विपक्षीय संबंधों को आगे बढ़ाने की इच्छा भी जताई।
अमेरिकी विदेश मंत्रालय की उप प्रवक्ता मैरी हार्फ ने कहा कि स्पष्ट तौर पर, यह समय भारत और अमेरिका के लिए चुनौतीपूर्ण रहा है। हम चाहते हैं कि हमारा कामकाज फिर से पटरी पर लौटे और हम इसे (विवाद) पीछे छोड़ना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि दोनों पक्ष संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए एक साथ कम करें।
हार्फ ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि यह समय जल्द खत्म होगा। मुझे लगता है कि हम तेजी से उस बिंदु की ओर बढ़ रहे हैं और हम भारत सरकार के साथ मिलकर महत्वपूर्ण कदम उठाएंगे, ताकि हमारे संबंध सुधर सकें और वापस एक सकारात्मक स्तर पर आ सकें।
उन्होंने कहा कि हमारा ध्यान इस बात पर है कि क्या यह स्थिति खत्म हो रही है और क्या हम आगे बढ़ रहे हैं। वरिष्ठ राजनयिक देवयानी खोबरागड़े की गिरफ्तारी के बाद अमेरिका और भारत के रिश्तों में तनाव पैदा हो गया था। देवयानी को वीजा धोखाधड़ी और गलत तथ्य पेश करने के आरोपों में गिरफ्तार किया गया था।
पिछले सप्ताह अमेरिका ने देवयानी को देश छोड़ने के लिए कह दिया था और इस समय वह भारत में हैं। भारत ने अमेरिका पर न सिर्फ वियना संधि के उल्लंघन करने का आरोप लगाया, बल्कि जवाब में उसने अमेरिकी राजनयिकों को मिलने वाले कई विशेषाधिकार भी वापस ले लिए। उसने एक अमेरिकी राजनयिक को नई दिल्ली से वापस चले जाने को कहा।
इस बीच हथियार नियंत्रण और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा मामलों की अमेरिकी उप विदेश मंत्री गोटेमोलेर ने द्विपक्षीय सहयोग पर चर्चा के लिए अमेरिका में भारतीय राजदूत एस जयशंकर से मुलाकात की। हार्फ ने कहा कि उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि दोनों ही पक्षों के लिए हमारे सामने मौजूद व्यापक लक्ष्य पर ध्यान देना जरूरी है।
उन्होंने परमाणु निरस्त्रीकरण, रक्षा और हथियार नियंत्रण पर बढ़ते द्विपक्षीय सहयोग के महत्व को रेखांकित किया। जयशंकर दोनों देशों के बीच चल रहे संकट के इस दौर में ही अमेरिका आए हैं। वह कांग्रेस के सदस्यों से भी मुलाकात कर रहे हैं।
विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा कि यह हमारे किसी मुद्दे पर एक साथ काम करने का उदाहरण है। हमें इस तरह के कामकाज पर वापस लौटना है और उम्मीद है कि यह विवाद खत्म होने वाला है।

Updated : 2014-01-13T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top