Home > Archived > भाजपा ने 1.30 लाख वोटों के साथ दो सीटें बढ़ाईं

भाजपा ने 1.30 लाख वोटों के साथ दो सीटें बढ़ाईं

कांग्रेस 14 हजार वोट बढ़ाकर भी पुरानी दो सीटें गवां बैठी


मुरैना | पिछले विधानसभा चुनाव में मिले मतों के मुकाबले भाजपा व बसपा ने जिले की 6 विधानसभा सीटों पर अपने वोट बढ़ाये हंै। कांग्रेस ने भी पिछले चुनाव के मुकाबले कुछ हजार वोटों का इजाफा किया मगर इसके बावजूद वह अपनी पुरानी दो सीटें भी गवां बैठी। भाजपा ने पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले इस बार 1,30,397 वोटों का इजाफा करते हुए दो के मुकाबले चार सीटें कर ली। वहीं बसपा ने अपना वोट 61,077 तो बढ़ाया मगर वह सीटें नही बढ़ा सकी। लेकिन वह पिछले चुनाव में मिली दो की संख्या को बरकरार रखने में कामयाब हुई है।
हाल ही में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनावों में जिले की 6 सीटों पर भाजपा को पिछले चुनाव में मिले मतों के मुकाबले जबरदस्त बढ़त हांसिल हुई। भाजपा को जहां 2008 के विधानसभा चुनाव में जिले की 6 सीटों पर 1,57,867 मत हांसिल हुए थे इस बार 2,88,264 वोट मिले हैं। फिर भी वह अपनी दो पुरानी सीट दिमनी व अम्बाह बसपा को दे बैठी। लेकिन भाजपा ने 4 सीटों पर काबिज होने में सफलता हांसिल की है जिनमें मुरैना व जौरा पिछले चुनाव में बसपा के पास थी तथा सुमावली व सबलगढ़ कांग्रेस के पास थी।
कांग्रेस को 2008 के विधानसभा चुनाव में 1,84, 369 मत मिले थे। इस बार उसके प्रत्याशियों को 1,99,105 वोट हॉसिल हुए है जो पिछले चुनाव की तुलना में 14000 अधिक है इसके बावजूद भी सीटों का बढऩा तो दूर वह एक भी पुरानी सीट को बचाने में सफल नहीं हुई। जबकि पिछले चुनाव में उसके दो उम्मीदवार कामयाब हुए थे।
बसपा को पिछले विधानसभा चुनाव में 1,85,855 वोट मिले थे इस बार मतों की संख्या बढ़कर 2,46,932 हो गई जो पिछले चुनाव से 61 हजार से भी अधिक है। वह सीटें बढ़ाने में तो कामयाब नहीं हो सकी लेकिन उसका प्रदर्शन कांग्रेस की तुलना में काफी मजबूत रहा और वह अपनी दो सीटें पुरानी गंवाकर अम्बाह, दिमनी की नई सीटें जीतने में सफल हो गई।
कांग्रेस व बसपा से अधिक वोट मिला भाजपा को
जिले की 6 विधानसभा सीटों पर भाजपा को कांग्रेस के मुकाबले इस बार 89 हजार से भी अधिक वोट हांसिल हुआ है और बसपा के मुकाबले वह 41,332 मतों से बढ़त में रही है। 

Updated : 2013-12-11T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top