Home > Archived > इलाज में लापरवाही पर 5 करोड़ 96 लाख के मुआवजे का आदेश

इलाज में लापरवाही पर 5 करोड़ 96 लाख के मुआवजे का आदेश

इलाज में लापरवाही पर 5 करोड़ 96 लाख के मुआवजे का आदेश
X

नई दिल्ली। कोलकाता के एमरी अस्पताल और इसके तीन डॉक्टरों को चिकित्सकीय लापरवाही के मामले में उच्चतम न्यायालय ने 5.96 करोड़ रूपये का जुर्माना लगाया है। 1998 का यह मामला भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर कुनाल साह की पत्नी की लापरवाही से हुयी हत्या का है। न्यायाधीश एस.जे. मुखोपाध्याय और वी.गोपाल गौड़ा की बेंच ने मामले की सुनवाई के दौरान अस्पताल प्रशासन और इसके तीन डॉक्टरों को आठ हफ्तों में ये रकम चुकाने को कहा है।
इतना ही नहीं न्यायालय ने अस्पताल प्रशासन को छह प्रतिशत का ब्याज के साथ इस रकम को चुकाने को कहा है।
कुनाल साह अमेरिका के ओहियो में एड्स के शोधकर्ता हैं। कुनाल की पत्नी अनुराधा साह एक बाल मनोवैज्ञानिक थी। अनुराधा मार्च 1998 में गर्मी की छुट्टियों में अपने घर कोलकाता आयी थी। तभी उन्हें त्वचा पर कुछ चकत्ते की शिकायत हुयी और उन्होंने 25 अप्रैल को एमरी अस्पताल के डॉ सुकुमार मुखर्जी से सलाह ली। मुखर्जी ने ​अनुराधा को बिना किसी दवा के बस आराम करने की सलाह दी थी।
अस्पताल के तीन डॉक्टरों में सुकुमार मुखर्जी और डॉ. बलराम प्रसाद को दस लाख रूपये देने हैं जबकि अन्य तीसरे डॉ.वैद्यनाथ हल्दर को पांच लाख रूपये का जुर्माना लगाया गया है। जबकि अन्य राशि वह भी ब्याज के साथ अस्पताल प्रशासन को चुकानी है।

Updated : 2013-10-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top