Home > Archived > फर्जी बोर्ड कार्यालय पर प्रशासन का छापा

फर्जी बोर्ड कार्यालय पर प्रशासन का छापा

फर्जी बोर्ड कार्यालय पर प्रशासन का छापा
X

ग्वालियर | गांधी नगर में पिछले कुछ दिनों से संचालित हो रहे फर्जी शैक्षणिक बोर्ड कार्यालय पर सोमवार को प्रशासनिक अधिकारियों$img_title ने छापामार कार्रवाई की। छापे के दौरान अधिकारियों ने रिकॉर्ड जब्त कर कार्यालय को सील कर दिया है। कार्रवाई के दौरान कार्यालय में मौजूद एक व्यक्ति को पुलिस अपने साथ ले गई है। प्रशासनिक अधिकारियों ने मामले की जांच के लिए एक दल गठित कर दिया है। शहर में संचालित एक फर्जी बोर्ड कार्यालय के खिलाफ प्रशासन ने सोमवार को कार्रवाई की है। विदित हो कि पिछले कई दिनों से प्रशासनिक एवं शिक्षा अधिकारियों को शिकायतें मिल रही थीं कि गांधी नगर में बोर्ड ऑफ सेकेण्ड्री एजुकेशन मध्यभारत के नाम से फर्जी बोर्ड कार्यालय संचालित है। यहां विद्यालयों के फर्जी रजिस्ट्रेशन एवं अन्य कार्य किए जाते हैं। शिकायतों के आधार पर सुनियोजित ढंग से सोमवार शाम करीब 5 बजे प्रशासनिक अधिकारियों ने छापा मारा। प्रशासन एवं पुलिस को देख पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया। प्रशासनिक अधिकारी सीधे बोर्ड कार्यालय के अंदर घुस गए। यहां एक व्यक्ति बैठा हुआ था जिसे पुलिस ने अपनी कस्टडी में ले लिया। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने छानबीन की। यहां से कई फाइलें, फोटो एवं अन्य दस्तावेज जब्त किए हैं। बोर्ड का नाम अंकित कुछ अंकसूची भी मौके से बरामद की गई हैं। जो व्यक्ति बोर्ड कार्यालय में बैठा मिला वह खुद को एक कर्मचारी बता रहा था। उसने बोर्ड संचालक का नाम डॉ. महेश चन्द्रवंशी बताया। संदेह के आधार पर पुलिस उसे अपने साथ ले गई। बोर्ड कार्यालय एक किराए के मकान में संचालित था। पूरे मामले की जांच के लिए एक जांच दल का गठन कर दिया गया है। यह जांच कमेटी पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपेगी। कार्रवाई के दौरान मौके पर एसडीएम विदिशा मुखर्जी, एसएलआर अनिल बनवारिया, जिला शिक्षा अधिकारी मोहर सिंह सिकरवार, अन्य अधिकारीगण एवं काफी संख्या में पुलिस बल मौजूद था। फर्जी बोर्ड कार्यालय पर छापा मारा है। इस दौरान कोई भी वहां मौजूद नहीं मिला है। कार्यालय से रिकॉर्ड जब्त किया है। एक जांच दल का गठन किया गया है जो पूरे मामले की जांच करेगा।
मोहर सिंह सिकरवार
जिला शिक्षा अधिकारी

Updated : 25 Sep 2012 12:00 AM GMT
Next Story
Top