Home > Archived > भारतीय वायु सेना खरीद पर खर्च करेगी दो लाख करोड़ रुपये

भारतीय वायु सेना खरीद पर खर्च करेगी दो लाख करोड़ रुपये

नई दिल्ली | भारतीय वायु सेना अगले दस साल में 126 बहुद्देशीय लड़ाकू विमानों जैसे लड़ाकू जेट की खरीदी सहित आधुनिकीकरण पर दो लाख करोड़ रुपये से अधिक रकम खर्च करने की योजना बना रही है। भारतीय वायु सेना के उप प्रमुख, एयर मार्शल ने कहा कि हम अपनी संपत्तियों का आधुनिकीकरण कर रहे हैं। पिछले पांच साल की योजना में भारतीय वायु सेना ने करीब 1.5 लाख करोड़ रुपये का सामान खरीदा और अगली दो योजना अवधि में हमारा इरादा करीब दो लाख करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति खरीदने का है। वह यहां भारत में उर्जावान एयरोस्पेस उद्योग विषय पर आयोजित एक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। भविष्य में वायुसेना की योजना रुस के साथ करीब 50,000 करोड़ रुपये की लागत के 126 बहुद्देशीय लड़ाकू विमानों सहित अन्य बड़े समझौते करने की है। समझा जाता है कि कुल सौदे की लागत एक लाख करोड़ रुपये से अधिक हो जाएगी। इसके अलावा 5,000 करोड़ रुपये की अन्य परियोजनाएं भी हैं। सम्मेलन में वायु सेना के उप प्रमुख ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में काम करने के लिए निजी क्षेत्र के पास अपार संभावनाएं हैं, लेकिन यह एक उत्कृष्ट आचार संहिता के तहत ही होना चाहिए। उन्होंने कहा कि आपको उत्कृष्ट आचार संहिता अपनानी चाहिए जो सूचनाओं को लेकर वायु सेना की चिंता के प्रति अत्यधिक संवेदनशील हो। एयर मार्शल शर्मा ने कहा कि डीआरडीओ और रक्षा से जुड़े सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को चाहिए कि वह निजी क्षेत्र को प्रतिस्पर्धी के तौर पर न देखें, बल्कि देश में एक स्वदेशी रक्षा उद्योग के विकास में सहयोगी के रुप मे देखें।



Updated : 20 Sep 2012 12:00 AM GMT
Next Story
Top