Home > Archived > बोडो शरणार्थिओंको राहत दे रहे है सेवा भारती के शिविर

बोडो शरणार्थिओंको राहत दे रहे है सेवा भारती के शिविर

बोडो शरणार्थिओंको राहत दे रहे है सेवा भारती के शिविर
X


$img_titleगुवाहाटी,
: सेवा भारती ने वनवासी कल्याण आश्रम, विश्व हिंदू परिषद और हिंदू बोडो सुरक्षा परिषद के सहयोग से बोडोलैंड क्षेत्रीय स्वायत्त जिला (बीटीएडी) के चार उप प्रभागोंमें 56 राहत शिबिर शुरु किए है। इन शिविरों में अब तक लगभग 3000 से 4000 परिवारों ने आश्रय लिया है तथा, अभी तक, 20 ट्रकलोड दवाईयाँ, औरतों के लिये कपडे, बच्चों के लिए खाद्य सामग्री, मच्छरदानियाँ आदी राहत सामग्री का वितरण किया जा चुका है।सेवा भारती के इन शिविरोंमें फिलहाल रुग्ण सेवा पर का ज्यादा जोर है। इन शिबिरोंमें तीन रुग्णवाहिकाएं दिनरात सेवा प्रदान कर रही है तथा गुजरात से सेवा के लिए आए हुए दो डाक्टर पिछ्ले 10 दिनों से पीड़ितों के इलाज और देखभाल कि जिम्मेदारी निभा रहे हैयह शिविर और कुछ महिनों तक चलाए जाने की आवश्यकता पड सकती है। और पीडितोंको कपडे, खाद्यान्न और किताबों की ज्यादा आवश्यकता है, ऐसा सेवा भारतीने कहा है। राहत शिविरोंके साथ ही सेवा भारतीने पहले चरण में 500 परिवारोंके पुनर्वास करने की योजना बनाई है। जिसके लिये बडे आर्थिक प्रबन्ध की आवश्यकता है।सेवा भारती फिलहाल अपनी गंगाजलीसे राहत शिविर रही है। लेकिन पीडितोंकी संख्या एवं उनकी आवश्यकताएं देखते हुए बडे आर्थिक योगदान का आहवान सेवा भारती ने लोगों से किया है। मदद निधि इस सेवा भारती के बैंक खाते में जमा किया जा सकता है। सेवा भारती का बैंक खाता है - एसबीआई मालिगांव गुवाहाटी, शाखा क्र. 229, आईएसएससी कोड-SBIN0000229, सीआईएफ़ क्र.85045662052, खाता क्र. 30078760763. संपर्क - सुरेन्द्र तालखेडकर (सेवा प्रमुख, असम प्रांत) मोबाईल-9436160217.

Updated : 12 Sep 2012 12:00 AM GMT
Next Story
Top