Latest News
Home > Archived > भोपाल में 22 नवंबर से लगेगा अन्तर्राष्ट्रीय हर्बल मेला

भोपाल में 22 नवंबर से लगेगा अन्तर्राष्ट्रीय हर्बल मेला

भोपाल | राजधानी भोपाल के लाल परेड ग्राउन्ड में 22 से 26 नवंबर तक विंध्य हर्बल अन्तर्राष्ट्रीय मेला का आयोजन किया जा रहा है। हर्बल मेले का शुभारंभ 22 नवंबर को शाम 6 बजे वन मंत्री सरजात सिंह करेंगे और समापन 26 नवंबर को शाम 6 बजे राज्यपाल रामनरेश यादव द्वारा किया जाएगा। उक्त जानकारी मध्यप्रदेश राज्य लघुवनोपज संघ के अध्यक्ष व नरेला विधायक विश्वास सारंग ने दी। श्री सांरग ने बताया कि लघु वनोपज संघ द्वारा राजधानी में वर्ष 2001 से लगातार राष्ट्रीय हर्बल मेलों का आयोजन किया जाता रहा है, लेकिन पिछले वर्ष मध्यप्रदेश वन विभाग की स्थापना के 150 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय हर्बल मेले को अन्तर्राष्ट्रीय स्वरूप प्रदान किया गया है। इस बार हर्बल मेले में यूरोप के साथ-साथ खासतौर पर अमेरिका के भी जड़ी- बूटी विशेषज्ञ आएंगे। विदेशी प्रतिनिधियों के आने मेले का स्वरूप अंतर्राष्ट्रीय होकर अधिकाधिक व्यापक होता जाएगा। यह मेला हर्बल उत्पादकों, प्रसंस्करणकर्ताओं, परम्परागत चिकित्सा पद्धितियों से उपचार करने वाले वैद्यों एवं व्यापारियों को मंच उपलब्ध कराने, उत्पादों के विपणन को प्रोत्साहित करने एवं आम जनता में जागृति उत्पन्न करने की दृष्टि से राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड, आयुष मंत्रालय, भारत सरकार, मध्यप्रदेश शासन, वन विभाग एवं मध्यप्रदेश राज्य लघु वनोपज संघ द्वारा संयुक्त रूप से विगत एक दशक से भोपाल एवं प्रदेश के अन्य बड़े शहरों में वन मेलों का आयोजन किया जाता रहा है। हर्बल मेले में प्रतिदिन विभिन्न सत्र आयोजित किये जाएंगे। प्रस्तावित सत्रों में 23 नवंबर को परम्परागत एवं प्राकृतिक स्थास्थ्य चिकित्सा पर एक संवाद, 24 नवंबर को अकाष्ठीय वनोपज से जीवन एवं जीवकोपार्जन पर खुला मंच, 25 नवंबर को क्रेता-विक्रेता सम्मेलन, अकाष्ठीय वनोपज पर आधरित रैसिपी उत्सव एवं तत्संबंधी प्रतियोगिताऐं व 26 नवंबर को अकाष्ठीय वनोपज का अंतर्राष्ट्रीय व्यापार एवं संभावनाएं एवं प्रक्रियायें शामिल हैं।



Updated : 2012-11-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top