Home > Lead Story > ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2018 : दक्षिण अफ्रीका पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2018 : दक्षिण अफ्रीका पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2018 : दक्षिण अफ्रीका पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्ली/जोहान्सबर्ग। पीएम नरेन्द्र मोदी अपनी तीन देशों, रवांडा, युगांडा और दक्षिण अफ्रीका की पांच दिवसीय आधिकारिक यात्रा के अंतिम चरण में दक्षिण अफ्रीका पहुंचे। पीएम मोदी दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में गुरुवार से शुरू होने वाली 10वीं ब्रिक्स सम्मिट में हिस्सा लेंगे। ब्रिक्स में भारत के अलावा ब्राजील, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका जैसे देश शामिल हैं। रवांडा और युगांडा की यात्रा के बाद प्रधानमंत्री मोदी 25-27 जुलाई तक दक्षिण अफ्रीका की यात्रा पर हैं। दक्षिण अफ्रीका की अपनी इस आधिकारिक यात्रा के दौरान वे ब्रिक्स समिट-2018 में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। पीएम मोदी रवांडा की आधिकारिक यात्रा पर जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बने। युगांडा की संसद में विशेष उद्बोधन के लिए आमंत्रित किए जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हुए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अफ्रीकी देश युगांडा से दक्षिण अफ्रीका के शहर वॉटरलुफ पहुंचे। जहां ब्रिक्स सम्मिट के मेजबान देश के प्रशासन द्वारा उनका स्वागत किया गया। इस 10वीं ब्रिक्स सम्मिट में प्रधानमंत्री भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। ब्रिक्स समिट में हिस्सा लेने के अलावा वे दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे। पीएम मोदी ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के दौरान अन्य ब्रिक्स संबंधित बैठकों में भाग लेंगे। ब्रिक्स बैठकों के दौरान भाग लेने वाले देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ पीएम की द्विपक्षीय बैठकें भी योजनाबद्ध हैं। अफ्रीका में ब्रिक्स शिखर सम्मिट की इस साल की थीम समावेशी विकास, और चौथी औद्योगिक क्रांति के लाभों को साझा करने के लिए सहयोग है। दक्षिण अफ्रीका के साथ मजबूत संबंध बनाने के लिए ब्रिक्स भारत का एक और माध्यम है।

विदेश मंत्रालय के सचिव (आर्थिक संबंध) ने बताया कि भारत अफ्रीका के साथ घनिष्ठ मैत्रीपूर्ण संबंध साझा करता है जो मजबूत विकास साझेदारी और भारतीय डायस्पोरा की बड़ी उपस्थिति से मजबूत होते हैं। पिछले कुछ वर्षों में, अफ्रीकी देशों के साथ विभिन्न क्षेत्रों में हमारी भागीदारी इसका एक उदाहरण है। यात्रा के दौरान रक्षा, व्यापार, संस्कृति, कृषि और डेयरी सहयोग के क्षेत्रों में कई समझौतों और एमओयू पर हस्ताक्षर किए जाने हैं। पिछले चार वर्षों में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के स्तर पर अफ्रीका के 23 आउटगोइंग दौरे हुए हैं। अफ्रीका भारत की विदेश नीति की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। प्रधानमंत्री की रवांडा, युगांडा और दक्षिण अफ्रीका की यात्रा अफ्रीकी महाद्वीप के साथ हमारे संबंधों को और मजबूत करेगी।

प्रधानमंत्री मोदी की तीन अफ्रीकी देशों की पांच दिवसीय आधिकारिक यात्रा 23 जुलाई से शुरू हुई थी। जिसमें पहले चरण में पीएम मोदी रवांडा पहुंचे थे। जहां पीएम मोदी की रवांडा के राष्ट्रपति पॉल कागामे के साथ मुलाकात, भारत-रवांडा के बीच प्रतिनिधिस्तर की वार्ता, दोनों देशों के बीच समझौतों पर हस्ताक्षर, मोदी- कामागे का संयुक्त मीडिया संबोधन, रवांडा के राष्ट्रपति द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सम्मान में राजकीय भोज और रवांडा में भारतीय राजदूत द्वारा आयोजित भारतीय समुदाय के कार्यक्रम हुए। अगले दिन याने 24 जुलाई को पीएम मोदी ने रवांडा के नरसंहार मेमोरियल का दौरा किया। रवांडा की राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा योजना 'गिरिंका' (प्रति परिवार एक गाय) के लिए पीएम मोदी ने रवांडा के राष्ट्रपति को 200 भारतीय गाय भेंट की। रवांडा के बाद 24 जुलाई को ही प्रधानमंत्री मोदी अफ्रीकी देश युगांडा पहुंचे। 24-25 जुलाई की अपनी दो दिन की आधिकारिक युगांडा यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने युगांडा के राष्ट्रपति के साथ वार्ता, युगांडा प्रमुख राजनेताओं से मुलाकात, युगांडा संसद में संबोधन, बिजनेस फोरम में भाषण, युगांडा में भारतीय समुदाय के कार्यक्रम में शिरकत की।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top