Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > योगी आदित्यनाथ ने मायावती पर किया कटाक्ष, पढ़े पूरी खबर

योगी आदित्यनाथ ने मायावती पर किया कटाक्ष, पढ़े पूरी खबर

योगी आदित्यनाथ ने मायावती पर किया कटाक्ष, पढ़े पूरी खबर
X
File Photo

बागपत। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि मायावती कहती हैं कि उन्हें मुसलमानों के वोट चाहिए, बाकी वोट नहीं चाहिए, तो बाकी वोट भाजपा को चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्ष 1947 में जिस तरह जोगेंद्र मंडल ने दलितों संग विश्वासघात किया था, आज मायावती कर रही हैं। मुख्यमंत्री सोमवार को पश्चिमी यूपी के तीन जिलों बिजनौर, मुजफ्फरनगर, शामली और बागपत में रैलियों को संबोधित कर रहे थे।

इस दौरान उन्होंने सपा-बसपा और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। मुख्यमंत्री ने भारत माता की जय और वंदे मातरम के साथ संबोधन की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि मायावती को अगर सिर्फ मुस्लिम वोट चाहिए तो स्वाभाविक है दूसरा वोट भी अपना तय कर लेगा कि हमें कहां जाना है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और सपा-बसपा के डीएनए पर सवाल खड़ा होता है, क्योंकि ये लोग सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक को लेकर सेना से सबूत मांग रहे हैं। बिजनौर में उन्होंने कहा कि यहां की सीट से उत्तर प्रदेश की 80 सीटें प्रभावित होंगी। इसलिए मेरा विनम्र आग्रह है कि अपने वोट का सही प्रयोग करें।

योगी ने मुजफ्फरनगर दंगे का जिक्र करते हुए गौरव और सचिन का भी नाम लिया। मुजफ्फरनगर दंगे के समय सचिन और गौरव के मारे जाने पर चौधरी अजित सिंह कहां थे? उस समय वह विदेश चले गए थे। आजम ने दंगाइयों को बचाया। निर्दोष लोग जेल भेजे। योगी ने कहा कि निर्दोष लोगों के मुकदमे वापस होंगे।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा की सरकार में दंगों ने पूरे प्रदेश को बर्बाद कर दिया था। कैराना और कांदला से सैकड़ों परिवार पलायन कर गए। अब अपराधी या तो जेल में हैं या फिर वे राम नाम सत्य है, की यात्रा पर निकल गए हैं। योगी ने कहा कि चौधरी चरण सिंह महान किसान नेता थे, लेकिन उनके पुत्र दंगाइयों के साथ खड़े हो गए। योगी ने कहा कि कल सहारनपुर में एक शो देखा होगा, उस शो में तीन पात्र थे। जो एक दूसरे को देखना पसंद नहीं करते थे, वे तीनों अब एक मंच पर दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे बड़ा दुख हुआ उस बयान को देखकर, जिसमें जयंत चौधरी ने कहा कि मैंने जाटों का ठेका नहीं ले रखा है। मुलायम सिंह व चौधरी चरण सिंह की विरासत उनके बेटे संभाल नहीं पाए। एक ने पिता को बाहर निकाल दिया और दूसरे ने पिता के आदर्शों को तिलांजलि दे दी।

Updated : 9 April 2019 4:10 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top