Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > योगी आदित्यनाथ ने कहा - पूर्ववर्ती सरकारों ने राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं को पूरा करने में नेकनीयती नहीं दिखाई

योगी आदित्यनाथ ने कहा - पूर्ववर्ती सरकारों ने राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं को पूरा करने में नेकनीयती नहीं दिखाई

योगी आदित्यनाथ ने कहा - पूर्ववर्ती सरकारों ने राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं को पूरा करने में नेकनीयती नहीं दिखाई
X

मीरजापुर/वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। कहा, पिछले 55 वर्षों में कांग्रेस की सरकार ने उत्तर प्रदेश में एक भी एम्स नहीं दिया। गांव-गरीबों के स्वास्थ्य सुविधाओं के प्रति उदासीन रही। लेकिन मोदी सरकार ने चार वर्षों के कार्यकाल में 13 मेडिकल काॅलेज, एम्स और एम्स जैसी सुविधा वाले अस्पताल दिए। भरोसा दिया कि अब यूपी के हर कमिश्नरी में एक मेडिकल काॅलेज खोला जायेगा ।

रविवार को मिर्जापुर के चंदईपुर में आयोजित जनसभा को मुख्यमंत्री सम्बोधित कर रहे थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में मुख्यमंत्री ने चिरपरिचित शैली में सपा-बसपा पर निशाना साधा। बहुप्रतिक्षित बाण सागर परियोजना के बहाने मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीतिक पूर्वाग्रह के चलते पिछली सरकारों ने विकासपरक योजनाओं को रोका था। तंज कसते हुए कहा कि इन सरकारों के एजेन्डे में विकास शामिल रहता तब तो विकास कार्य करवाती। पिछली सरकारों ने राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं को पूरा करने में नेकनीयती नहीं दिखाई। उनके अन्दर योजनाओं को पूरा करने की इच्छा शक्ति ही नहीं थी। योगी यही नहीं रूके कहा कि पिछली सरकारों ने लोगों में भी जाति-मजहब के नाम पर तोड़ा। लेकिन अब एक दूसरे को जोड़ने का कार्य हो रहा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और केन्द्र सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की दिल खोलकर तारीफ के बाद कहा कि पिछले चार सालों में इस सरकार ने विकास के नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं। प्रधानमंत्री के अगुवाई में पूरे देश में विश्वास का वातावरण पैदा हुआ है। सरकार गरीबों, किसानों, नौजवानों के हित और महिलाओं के सम्मान के लिए कार्य कर रही हैं।

बाण सागर परियोजना सहित विभिन्न विकासपरक परियोजनाओं को तय समय में पूरा करने की प्रतिबद्धता जता कहा कि सरकार नौजवानों को रोजगार देने के लिए संकल्पित है। पुलिस और शिक्षकों की भर्ती का जिक्र कर कहा कि प्रदेश में डेढ़ लाख पुलिस कर्मियों के पद भरे जाएंगे। एक लाख 37 हजार शिक्षकों की भर्ती होगी। भरोसा दिया भर्ती में धांधली नहीं होगी। भर्ती में पारदर्शिता का मानक प्रस्तुत किया जायेगा।

Updated : 2018-07-15T21:30:04+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top