Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > दिल्ली सीमा से गाजियाबाद में लगातार आ रही भीड़, कौशांबी से बसों का संचालन बंद

दिल्ली सीमा से गाजियाबाद में लगातार आ रही भीड़, कौशांबी से बसों का संचालन बंद

दिल्ली सीमा से गाजियाबाद में लगातार आ रही भीड़, कौशांबी से बसों का संचालन बंद

गाजियाबाद। लॉकडाउन के बीच दिल्ली-एनसीआर में रहने वालों के पलायन का दौर रविवार को भी बदस्तूर जारी है। हालांकि, शनिवार के मुकाबले रविवार सुबह से भीड़ कम है। उधर, कौशांबी बस डिपो से भी बसों का संचालन बंद कर दिया गया है। केवल लालकुआं से ही आज उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों के लिए बसों का संचालन होगा। इसके लिए यूपी गेट से सीमा में प्रवेश करने वाले लोगों को लालकुआं की ओर भेजा जा रहा है।

गौरतलब है कि गाजियाबाद प्रशासन की ओर से प्रवासियों को उनके गांव भेजने के लिए बीते 24 घंटे में करीब 800 से अधिक बसों का संचालन किया गया है। इनमें से ज्यादातर बसें लालकुआं से चली हैं। वहीं कुछ बसें कौशांबी बस डिपो से भी चलाई गई हैं। इन बसों में सवार होकर हजारों हजार यात्री अपने गंतव्य को रवाना हुए हैं।

लाल कुआं पर तैनात ट्रैफिक इंस्पेक्टर परमहंस तिवारी ने बताया कि सुबह साढ़े आठ बजे तक लालकुआं पर ज्यादा भीड़ तो नहीं है, लेकिन जिस प्रकार हरियाणा से लोग आ रहे हैं, दस बजे तक हजारों की संख्या में लोगों के जमा होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अभी से लालकुआं पर बसों के भरने का काम शुरू कर दिया गया है। उधर, यूपी गेट पर तैनात ट्रैफिक इंस्पेक्टर बीपी गुप्ता ने बताया कि भीड़ तो नहीं है, लेकिन लोग दिल्ली सीमा पारकर पैदल आ रहे हैं। लोगों की सुविधा के लिए कुछ निजी बसों को खड़ा किया गया है, लेकिन इनमें बैठने की बजाय लोग सीधे लालकुआं जा रहे हैं।

निजी बसें लगाईं

जिला प्रशासन ने रविवार को जिले में संचालित सभी निजी बस ऑपरेटरों को अपनी बसें लालकुआं भेजने के निर्देश दिए हैं। इन सभी बसों का संचालन लालकुआं से राज्य के विभिन्न शहरों के लिए किया जाएगा। गौरतलब है कि मजदूर वर्ग के लगभग लोग यहां से अपने गांव के लिए रवाना हो चुके हैं, लेकिन अब सक्षम लोग भी गांव भागने लगे हैं। यहां तक कि हरियाणा सरकार ने भी अपने राज्य मे रह रहे प्रवासियों को बसों में बैठाकर यूपी बॉर्डर या लालकुआं पहुंचाना शुरू कर दिया है।

''कल तो जरूरतमंद लोगों की भीड़ थी, इसलिए पुलिस ने उन्हें पूरी राहत देने का प्रयास किया था, लेकिन अब उनकी देखादेखी सभी लोग भागने लगे हैं। ऐसे में अब यदि कोई सड़क पर अनावश्यक घूमते नजर आएगा तो उसके खिलाफ पूरी सख्ती की जाएगी।'' -कलानिधि नैथानी, एसएसपी गाजियाबाद

Updated : 29 March 2020 4:30 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top