Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > देवबंद रैली में मायावती बोलीं - कांग्रेस जानती है हम जीते या न जीते, गठबंधन नहीं जीतना चाहिए

देवबंद रैली में मायावती बोलीं - कांग्रेस जानती है हम जीते या न जीते, गठबंधन नहीं जीतना चाहिए

गंगा में डुबकी लगाने या बोट यात्रा करने से नहीं बढ़ेगा वोट

देवबंद रैली में मायावती बोलीं - कांग्रेस जानती है हम जीते या न जीते, गठबंधन नहीं जीतना चाहिए
X
Image Credit : ANI Tweet

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश में सपा, बसपा और रालोद के संयुक्त गठबंधन की पहली चुनावी रैली में बसपा अध्यक्ष मायावती ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने गठबंधन की रैली में भीड़ का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का भी इस्तेमाल किया। मायावती ने कहा कि इस बार के लोकसभा चुनाव में अगर वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी नहीं की गयी तो उत्तर प्रदेश से भाजपा जा रही है और गठबंधन आ रहा है।

महागठबंधन प्रत्याशी हाजी फजलूर्रहमान के समर्थन में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ सभा स्थल पर पहुंची पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि चौकीदार की नाटकबाजी भाजपा को नहीं बचा पायेगी। छोटे-बड़े चौकीदार चाहे जितनी ताकत लगा लें भाजपा सरकार आने वाली नहीं है। भाजपा और आरएसएस की पूंजीवादी नीति के कारण उनको कामयाबी नहीं मिलेगी।

उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों का बकाया सिर्फ कागजों में हुआ है। उत्तर प्रदेश से मोदी के साथ योगी को भी भगाना होगा। भाजपा की सरकार ने अपने छोड़े गए आवारा पशुओं से और भी नुकसान कराया। यदि हमें केंद्र में सरकार बनाने का मौका मिला तो किसानों का गन्ना बकाया फिर कभी नहीं होगा।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि कांग्रेस गलत नीतियों के कारण सत्ता से बाहर हुई। वही हाल भाजपा का होने वाला है। भाजपा सरकारी की एक भी योजना जमीन पर नहीं उतरी। भाजपा सरकार ने सरकार का खजाना खाली कर दिया है। भाजपा सरकार ने पुलवामा हमले ​के दिन भी सरकारी घोषणाएं की। राफेल डील में भी भ्रष्टाचार किया गया। आज देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं हैं।

मायावती ने कहा कि भाजपा प्रचार पर करोड़ों रुपये खर्च कर रही है। देश को गुमराह करने का काम भाजपा नेता कर रहे हैं। भाजपा इस बार सत्ता से जरूर बाहर होगी। बसपा अध्यक्ष ने भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस पर भी हमला बोलते हुए कहा कि गंगा में डुबकी लगाने और वोट यात्रा करने से वोट नहीं बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा को टक्कर नहीं दे सकती।

मायावती ने कहा कि छह हजार रुपये देने से किसानों का भला नहीं होगा। सबका साथ सबका विकास जुमला साबित हुआ। मुस्लिम समाज अपना वोट नहीं बटने दे। गरीबी पैसों से नहीं रोजगार से खत्म होगी। इसलिए प्रदेश के हित में कांग्रेस व भाजपा को वोट नहीं दे। उन्होंने कहा कि केन्द्र में सरकार बनने पर हम किसानों का विशेष ध्यान देंगे। चौधरी चरण सिंह, कांशीराम, डॉ.अम्बेडकर और लोहिया के सपनों को हम पूरा करेंगे। रैली के मंच पर सपा अध्यक्ष ​अखिलेश यादव और रालोद अध्यक्ष चौधरी अजीत सिंह भी ​हैं।

Updated : 2019-04-07T14:59:26+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top