Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > सिपाही का वीडियो वायरल होने के बाद लिपिक निलंबित

सिपाही का वीडियो वायरल होने के बाद लिपिक निलंबित

सिपाही का वीडियो वायरल होने के बाद लिपिक निलंबित
X

महोबा/स्वदेश वेब डेस्क। उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में एक सिपाही के वायरल वीडियो को लेकर डीजीपी के निर्देश पर बड़ी कार्रवाई की गई है। जीपीएफ का भुगतान न होने और उसे साल भर से अवकाश न मिलने पर सिपाही ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर आत्महत्या करने की धमकी दी थी। इस मामले में पुलिस कार्यालय के एक लिपिक को निलम्बित कर दिया गया है। सिपाही को भी तत्काल एक लाख रुपये का भुगतान जीपीएफ से देने के साथ ही उसे अवकाश पर घर भेज दिया गया।

जिले के पुलिस लाइन में तैनात लक्ष्मण सिंह ने शनिवार को एक वीडियो सोशल मीडिया पर जारी कर आत्महत्या करने की बात कही थी। उसने आरोप लगाया था कि पत्नी की बीमारी का इलाज कराने के लिए जीपीएफ से धन मांगने के लिए आवेदन किया गया था लेकिन उसे भुगतान नहीं किया गया। यहां तक एक साल से उसे घर जाने के लिए अवकाश भी नहीं दिया जा रहा था। सिर्फ नातिन की शादी के लिए तीन दिन की छुट्टी मिली थी। सिपाही ने वीडियो में रो-रोकर कह रहा था कि यदि उसकी मदद नहीं की गई तो वह आत्महत्या कर लेगा। यह सिपाही उरई(जालौन) का रहने वाला है।

इस मामले पर संज्ञान लेते हुए डीजीपी ने रविवार दोपहर बाद महोबा पुलिस अधीक्षक से जवाब मांगा था। प्रकरण में कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए गए थे। बताया जाता है कि सीओ जितेन्द्र दुबे ने इस मामले में पुलिस लाइन पहुंचकर सिपाही लक्ष्मण सिंह के मामले की जांच की। जीपीएफ का आवेदन फाइलों से निकलवाकर तत्काल एक लाख रुपये का उसे भुगतान कराया गया। प्रतिसार निरीक्षक ने सिपाही को अवकाश पर घर जाने के लिए बस में बैठाया। इधर, इस मामले में लापरवाही बरतने पर पुलिस कार्यालय के लिपिक भारतेन्द्र सिंह को पुलिस अधीक्षक ने निलम्बित कर दिया है। मामले की जांच के भी आदेश दिए गए हैं।

Updated : 2018-10-08T16:54:52+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top