Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > आजम खान ने कहा - आजादी के बाद से मुसलमान हो रहे हैं शिकार

आजम खान ने कहा - आजादी के बाद से मुसलमान हो रहे हैं शिकार

आजम खान ने कहा - आजादी के बाद से मुसलमान हो रहे हैं शिकार
X

रामपुर। समाजवादी पार्टी के वरिष्‍ठ नेता और रामपुर से सांसद आजम खान ने मॉब लिचिंग की घटनाओं पर बड़ा हमला बोला है। आजम खान ने कहा कि मुसलमान 1947 के बाद भी सजा काट रहे हैं। अगर मुसलमान पाकिस्तान चले जाते तो उन्हें यह सजा नहीं मिलती। मुसलमान यहां हैं तो हैं, सजा तो भुगतेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वज क्यों नहीं गए पाकिस्तान? उन्होंने इसे अपना वतन माना। अब उन्हें इसकी सजा तो मिलेगी और वो सहेंगे। सपा सांसद आजम खान ने कहा कि 1947 में मुसलमान पाकिस्तान क्यों नहीं गए? ये मोलाना आजाद, पंडित जवाहर लाल नेहरू और सरदार पटेल से पूछिए क्योंकि इन लोगों ने मुसलमानों से वादे किए थे।

साथ ही उन्होंने ने कहा कि बापू (राष्ट्रपिता महात्मा गांधी) की अपील पर मुसलमान पाकिस्तान नहीं गए थे। बापू ने मुसलमानों से कहा था कि ये देश तुम्हारा है, अगर बंटवारा बाकी के मुसलमान भी चाहते तो देश की ये शक्ल नहीं होती। बता दें, आजम खान इन दिनों भूमि विवाद को लेकर घिरे हुए हैं। उत्‍तर प्रदेश सरकार ने दो दर्जन से भी अधिक मामलों में फंसे आजम खान को 'भू-माफिया' की लिस्ट में शामिल किया है। रामपुर प्रशासन ने राज्य सरकार के ऐंटी-भू माफिया पोर्टल पर आजम खान को सूचीबद्ध कर दिया है। उनके ऊपर अब गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। बुधवार को रामपुर के थानों में 24 घंटे के अंदर आजम खान के खिलाफ आठ और मुकदमें दर्ज कराए गए थे।

इससे पहले उनके ऊपर जमीन कब्जाने के मामले में पांच मुकदमें दर्ज हुए थे। आजम खान पर कई सौ करोड़ रुपए के जमीन हड़पने के 13 मामले दर्ज किए गए हैं। आरोप है कि आजम ने जौहर ट्रस्ट द्वारा संचालित निजी विश्वविद्यालय मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए रामपुर में जमीनों पर अवैध कब्जा किया है।

रामपुर जिला प्रशासन ने अजीम नगर पुलिस थाने में यूपी के राजस्व विभाग ने बीते शुक्रवार को आजम और उनके सहयोगी अलेहसन खान नाम के एक पूर्व पुलिस अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद उनके खिलाफ एक दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हो गए। अपने राजनीतिक जीवन के सबसे कठिन दौर से गुजर रहे हैं। पिछले कुछ समय में उनके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं।

Updated : 20 July 2019 5:07 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top