Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > पूर्व मुख्यमंत्री को रोकने व प्रयाग में लाठीचार्ज के विरोध में सड़क पर उतरे सपा कार्यकर्ता

पूर्व मुख्यमंत्री को रोकने व प्रयाग में लाठीचार्ज के विरोध में सड़क पर उतरे सपा कार्यकर्ता

- प्रयागराज में लाठीचार्ज व हवाई फायरिंग में सांसद धर्मेन्द्र यादव घायल, भारी पुलिस बल तैनात

पूर्व मुख्यमंत्री को रोकने व प्रयाग में लाठीचार्ज के विरोध में सड़क पर उतरे सपा कार्यकर्ता
X

कानपुर। सपा मुखिया अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट में रोके जाने से सपा कार्यकर्ताओं में रोष व्याप्त हो गया। अभी यह मामला थमा ही नहीं था कि प्रयागराज में पुलिस के लाठीचार्ज से अखिलेश यादव के सांसद भाई धर्मेन्द्र यादव घायल हो गये। इसके बाद से पूरे प्रदेश सहित कानपुर में सपा कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आये। शहर के प्रमुख बड़े चौराहे से लेकर कचहरी वाली सड़क को पूरी तरह से जाम कर सरकार विरोधी नारेबाजी की जा रही है।

सपा मुखिया अखिलेश यादव मंगलवार को प्रयागराज विश्वविद्यालय के छात्र संघ भवन के कार्यक्रम में लखनऊ से प्रयागराज जा रहे थे। इसी बीच पुलिस ने उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर यह कहकर रोक दिया कि वहां जाने से स्थितियां बिगड़ सकती हैं जिसके बाद से पूरे प्रदेश के सपा कार्यकर्ताओं में जबरदस्त रोष व्याप्त हो गया। इसी बीच प्रयागराज में पुलिस और छात्रों में झड़प होने लगी। मामला यहां तक बढ़ गया कि पुलिस को लाठीचार्ज से लेकर फायरिंग भी करनी पड़ी जिससे अखिलेश यादव के सांसद भाई धर्मेन्द्र यादव घायल हो गये।

इस बात की जानकारी जैसे ही सपा कार्यकर्ताओं को मिली तो सरकार के खिलाफ उनका गुस्सा सातवें आसमान पर हो गया। नगर अध्यक्ष मोइन खान की अगुवाई में हजारों सपा कार्यकर्ताओं पार्टी कार्यालय पहुंच गये। जिसके बाद बड़ा चौराहा से लेकर कचहरी जाने वाली सड़क को विरोध स्वरूप जाम कर दिया। सपाइयों के बढ़ते विरोध को देखते ही कई थानों का फोर्स पहुंच गया पर सपा कार्यकर्ताओं पीछे हटने को तैयार ही नहीं है। इस बीच रूक-रूककर पुलिस और सपाइयों में तीखी नोकझो रही है और कई बार पुलिस को हल्की लाठीचार्ज भी करना पड़ा। लेकिन सपा कार्यकर्ताओं पीछे हटने को तैयार नहीं है और समाचार लिखे जाने तक पुलिस का फोर्स बराबर बढ़ता ही जा रहा है। इस दौरान सपा कार्यकर्ताओं बराबर सरकार विरोधी नारेबाजी कर रहे हैं। मौके पर पुलिस और प्रशासन के तमाम अधिकारी मौजूद हैं।

सपा-बसपा के गठबंधन से घबराई योगी सरकार

नगर अध्यक्ष मोइन खान ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की योगी सरकार सपा और बसपा के गठबंधन से घबरा गयी है। उन्हें आशंका है कि 2019 का लोकसभा चुनाव हाथ से निकल रहा है जिसके चलते अलोकतांत्रिक कदम उठा रही है, पर सपा कार्यकर्ताओं इनसे डरने वाले नहीं।हम लोग शांति पूर्वक विरोध दर्ज कर इनको जवाब देने का काम कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि सपा अध्यक्ष को बिना किसी लिखित आदेश के रोका गया जिससे साफ है कि योगी सरकार युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना चाहती है। ग्रामीण अध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार ने जनता के लिए कुछ काम नहीं किया और अब सपा बसपा का गठबंधन हो गया है। भाजपा को अपनी हार दिख रही है और इसीलिए अखिलेश यादव को रोका गया और प्रयागराज में सपा नेताओं और छात्रों पर लाठीचार्ज किया गया जिसका जवाब जनता आगामी लोकसभा में देगी।

सक्रिय हुईं खुफियां एजेंसियां

कानपुर सहित पूरे प्रदेश में सपा कार्यकर्ताओं के बढ़ते विरोध को देखते हुए खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गयी हैं। खुफिया एजेंसियां पार्टी कार्यालय और सपा नेताओं के घरों के आस-पास की गतिविधियों पर नजर रख रही है और प्रशासन को पल-पल की खबर दे रही हैं। हालांकि सपाइयों का रेला बड़ा चौराहा पर बढ़ता ही जा रहा है जिसको रोकने के लिए पुलिस कई जगहों पर बैरीकेटिंग भी कर रखी है लेकिन पुलिस को चकमा देकर सपा कार्यकर्ताओं गली कूचे के रास्ते पहुंच रहे हैं।

Updated : 12 Feb 2019 12:22 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top