Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > कानपुर में कागजों पर हो गई चार करोड़ से नालों की सफाई

कानपुर में कागजों पर हो गई चार करोड़ से नालों की सफाई

केन्द्र सरकार ने कानपुर को स्मार्ट सिटी का दर्जा दे दिया और बजट भी आना शुरू हो गया है।

कानपुर में कागजों पर हो गई चार करोड़ से नालों की सफाई
X

कानपुर में कागजों पर हो गई चार करोड़ से नालों की सफाई

कानपुर । केन्द्र सरकार ने कानपुर को स्मार्ट सिटी का दर्जा दे दिया और बजट भी आना शुरू हो गया है। लेकिन काम करने वाले जिम्मेदार वही पुराना ढर्रा अपनाये हुये हैं। यही वजह है कि नगर निगम ने कागजों में भले ही चार करोड़ की धनराशि से नालों की सफाई कर दी हो, लेकिन जमीनी हकीकत में अभी भी नालों की सफाई का काम चल रहा है और अब तक 70 फीसदी ही नालों की सफाई हो सकी है।

कानपुर में मानसून आमतौर पर 20 जून के आस-पास दस्तक दे देता है। ऐसे में नालों की सफाई मई माह में ही हो जानी चाहिये पर नगर निगम के जिम्मेदार लापरवाही से बाज नहीं आ रहे हैं। जून माह में नालों की सफाई का काम शुरू किया गया और बारिश न होता देख काम में भी जानबूझकर सुस्ती बरती गयी। सूत्रों के मुताबिक चार करोड़ के भारी भरकम बजट से अभी तक शहर के 70 फीसदी ही नाले साफ हो सके हैं। यही नहीं अभी सैकड़ों नालों से निकाली गयी सिल्ट भी सड़कों पर बजबजा रही है, जिससे सड़कों पर निकलने वाले लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसकी बानगी शारदा नगर जीटी रोड से नमक फैक्ट्री चौराहा तक बने नाले में स्पष्ट रूप से देखी जा रही है। इस नाले में सड़क निर्माण से निकले मलबे को डाल दिया गया है। जिससे बारिश होने पर इस इलाके में जलभराव होना तय है।

इलाके के कांग्रेसी नेता शैलेन्द्र दीक्षित और रमेश कुमार ने बताया कि प्रदेश सरकार के गड्डा मुक्त अभियान में भी इस सड़क पर काम नहीं हो सका। लेकिन अब लोक निर्माण विभाग ने सड़क को बनवाया और सड़क से निकला मलबा नाले में ही डाल दिया गया। इसके कारण कई जगह नाला बंद हो गया है, जिससे आने वाले दिनों में होने वाली बारिश में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। तो वहीं शिवली रोड कल्याणपुर, रावतपुर गांव, बर्रा दो, आनंद नगर, बर्रा विश्व बैंक समेत कई जगह नालों की सफाई अभी तक नहीं हो पायी है। हालांकि शुक्रवार को आनंद नगर नगर निगम की जेसीबी मशीन नालों से सिल्ट निकालते हुये दिखी,लेकिन इस रफ्तार से सभी नालों की सफाई होना मुश्किल है।उधर मौसम विभाग के मुताबिक कानपुर में आठ और नौ जुलाई से झमाझम मानसूनी बारिश की संभावना है। ऐसे में देखना होगा झमाझम बारिश में नगर निगम किस तरह शहरवासियों को सहूलियतें दे पाता है।

भाजपा महापौर प्रमिला पाण्डेय ने बताया कि नालों की सफाई को लेकर बेहद गंभीरता से लिया जा रहा है और जमीनी हकीकत मैं खुद देखूंगी और दोषी जिम्मेदारों को किसी भी सूरत में बक्शा नहीं जायेगा। वहीं नमक फैक्ट्री वाली सड़क बनने से निकले मलबे को नाले में फेंके जाने पर जल संस्थान के मुख्य अभियंता मनीष सिंह ने बताया कि लोक निर्माण विभाग को नोटिस दी जाएगी। इसके साथ नाला सफाई में आने वाला खर्च भी उनसे वसूला जाएगा। नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा ने बताया कि उनकी हाल में यहां पर पोस्टिंग हुई है फिर भी लगातार नालों की सफाई की निगरानी कर रहे हैं। कागजों पर काम दिखाने वाले अधिकारियों के खिलाफ कारण बताओ नोटिस भेजा जायेगा।






Updated : 2018-07-06T23:08:38+05:30

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top