Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > संक्रामक रोग की चपेट में आया उत्तर प्रदेश, सात जनपद में हुईं बुखार से 79 मौतें

संक्रामक रोग की चपेट में आया उत्तर प्रदेश, सात जनपद में हुईं बुखार से 79 मौतें

संक्रामक रोग की चपेट में आया उत्तर प्रदेश, सात जनपद में हुईं बुखार से 79 मौतें
X

लखनऊ/स्वदेश वेब डेस्क। उत्तर प्रदेश के सात जनपद संक्रामक रोग की चपेट में हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए जा रहे उपचारात्मक प्रयासों के कारण प्रदेश के विभिन्न जनपदों में संक्रामक रोगों की स्थिति पूर्णतया नियंत्रण में है। इन जनपदों में बदायूं,बरेली, हरदोई, बहराइच,सीतापुर, शाहजहांपुर और पीलीभीत शामिल हैं। इनमें संक्रामक रोग से सबसे प्रभावित बदायूं व बरेली जनपद हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक संक्रामक रोग से प्रभावित इन सात जनपदों में अगस्त से लेकर अब तक बुखार के कारण कुल 79 मौत हुई है। वहीं अन्य कारणों से 288 मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जनपद बरेली में 20 अगस्त 2018 से अबतक कुल 63329 ज्वर के रोगियों की जाॅच एवं उपचार सुनिश्चित किया गया। इनमें से 10299 रोगियों की ब्लड स्लाइड बनाई गई तथा 42880 रोगियों की जाॅच रैपिड डायग्नोस्टिक किट के माध्यम से जाॅच की गई। इन जाॅचों में कुल 8984 रोगी मलेरिया धनात्मक पाए गए। इन रोगियों को समुचित उपचार प्रदान करते हुए इनके घरों के आस-पास समन्वित वेक्टरजनित रोग नियंत्रण कार्यवाही सम्पादित की गई।

जनपद बरेली में ज्वर सम्बन्धित लक्षणों के कारण कुल 24 मृत्यु रिपोर्ट हुई है जबकि अन्य कारणों जैसे एक्सीडेन्ट, कैंसर, सिरोसिस, रीनल फेल्योर इत्यादि कारणों से 21 मृत्यु रिपोर्ट हुई हैं।

जनपद बदायूॅ में संक्रामक रोगों की स्थिति को दृश्टिगत रखते हुए दिनाॅक 10 अगस्त 2018 से ही जनपदस्तरीय संक्रामक रोग नियंत्रण टीम को सक्रिय कर निरोधात्मक कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गई। वर्तमान में जनपद में कुल 53 टीमें क्रियाशील हैं। इन टीमों के द्वारा कुल 30,361 ज्वर रोगियों को उपचार प्रदान किया गया जिसमें से 8,917 रोगियों की स्लाइड बनाई गई तथा 12,450 रैपिड डायग्नोस्टिक किट से जाॅच की गई। जाॅच किए गए रोगियों में से 1,927 रोगी मलेरिया धनात्मक पाए गए जिनका समुचित उपचार किया गया तथा इन रोगियों के घरों के आस-पास आवश्यक निरोधात्मक कार्यवाही की गई। आउटब्रेक के अन्य सम्भावित कारणों की पहचान के लिए बदायूॅ जनपद से 30 रोगियों का रक्त संकलन किया गया जिसकी जाॅच स्टेट लैब, लखनऊ में की गई जिनमें से एक रोगी डेंगू धनात्मक पाया गया। अन्य समस्त नमूने ऋणात्मक पाए गए। जनपद में अब तक ज्वर के कारण कुल 23 मृत्यु हुई है जबकि अन्य कारणों से हुई मौतों की संख्या 115 हैं।

इसी प्रकार जनपद हरदोई में 06 सितम्बर 2018 से संक्रामक रोगों के प्रसार की सूचना प्राप्त होने पर कुल 14 संक्रामक रोग नियंत्रण टीमों द्वारा प्रभावित क्षेत्रों गहन भ्रमण किया गया। इन टीमों के द्वारा 1985 ज्वर रोगियों का परीक्षण एवं उपचार किया गया। इनमें से कुल 86 मलेरिया धनात्मक रोगी चिन्हित किए गए। इन रोगियों को समुचित उपचार प्रदान किया गया। जनपद में अब तक ज्वर के कारण कुल 12 रोगियों की मृत्यु रिपोर्ट हुई है जबकि अन्य कारणों से कुल 17 व्यक्तियों की मृत्यु रिपोर्ट हुई है। जनपद में संक्रामक रोगों की स्थिति पूर्णतया नियंत्रण में है। जनपद बहराईच में विगत डेढ माह संक्रामक रोग नियंत्रण के लिए त्वरित एवं प्रभावी कार्यवाही संचालित है। इस अवधि में जनपद में अब तक कुल 70 व्यक्तियों की मृत्यु रिपोर्ट की गई है जिनमें से 06 रोगियों की मृत्यु बुखार सम्बन्धित लक्षणों के कारण रिपोर्ट हुई है।

पीलीभीत में अब तक कुल 10310 ज्वर के रोगी को चिन्हित कर उपचार प्रदान किया गया है। इन रोगियों में से 3013 रोगियों का रक्त परीक्षण किया गया जिनमें 47 मलेरिया धनात्मक रोगी चिन्हित कर उपचारित किए गए। जनपद पीलीभीत में ज्वर के लक्षण से सम्बन्धित 04 मृत्यु तथा अन्य कारणों से 19 मृत्यु हुई है। इसी प्रकार, जनपद शाहजहाॅपुर में कुल 12834 ज्वर रोगियों का परीक्षण एवं उपचार प्रदान किया गया। इनमें से 8062 रोगियों का रक्त परीक्षण किया गया। परीक्षण किए गए रोगियों में से 89 मलेरिया धनात्मक रोगी चिन्हित किए गए। ज्वर के लक्षण से ग्रसित 2 रोगियों की मृत्यु तथा अन्य कारणों से 20 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। जनपद सीतापुर में कुल 8075 बुखार के रोगी देखे गए जिनमें से कुल 1752 रोगियों का रक्त परीक्षण किया गया और कोई भी रोगी मलेरिया धनात्मक नहीं पाया गया। जनपद से बुखार के लक्षण से सम्बन्धित 8 मृत्यु तथा अन्य कारणों से 26 मृत्यु रिपोर्ट हुई है।

Updated : 2018-09-20T14:41:06+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top