Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > जूता विवाद में फंसे यूपी के मंत्री, जवाब - में कहा कुछ ऐसा, पढ़े पूरा मामला

जूता विवाद में फंसे यूपी के मंत्री, जवाब - में कहा कुछ ऐसा, पढ़े पूरा मामला

जूता विवाद में फंसे यूपी के मंत्री, जवाब - में कहा कुछ ऐसा, पढ़े पूरा मामला
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक एवं डेयरी विकास मामलों के मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण एक सरकारी कर्मचारी द्वारा उन्हें जूते पहनने में सहायता करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विवादों में आ गए हैं। यह घटना शाहजहांपुर में हुई थी, जहां मंत्री एक योग दिवस समारोह में भाग ले रहे थे।

इस बीच, मंत्री ने इस घटना को न्यायसंगत बताते हुए कहा कि किसी व्यक्ति द्वारा जूते पहनने में उनकी मदद करने को सराहा जाना चाहिए। उन्होंने इसके लिए राम की पादुकाओं का उदाहरण देते हुए कहा कि भरत ने सिंहासन पर भगवान राम के खड़ाऊ रखकर उनके राज्य पर 14 साल तक राज किया था। यह पहली बार नहीं है जब नारायण विवादों में फंसे हैं। 2018 में 'दीपोत्सव' कार्यक्रम के दौरान, उन्होंने दावा किया था कि राम ने भारत को एक वैश्विक महाशक्ति बनाया है। उसी वर्ष एक अन्य प्रकरण में उन्होंने हनुमान की जाति पर बहस के बीच दावा किया था कि हनुमान जाट समुदाय के हैं।

आपको बताते जाए कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को विश्व योग दिवस पर मंत्रियों को अपने नामित जिलों में योग कार्यक्रम में शामिल होने के आदेश दिए थे। इसी क्रम में उनके साथ भाजपा के कई दिग्गज नेता भी शामिल थे। इस दौरान उनके साथ पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयान्नद और डीएम अमृत त्रिपाठी भी थे।

Updated : 22 Jun 2019 12:09 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top