Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > यूपी में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद पहला बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 20 आईएएस अधिकारियों का तबादला

यूपी में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद पहला बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 20 आईएएस अधिकारियों का तबादला

यूपी में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद पहला बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 20 आईएएस अधिकारियों का तबादला
X

लखनऊ। योगी सरकार ने सोमवार देररात 20 आईएएस अधिकारियों का तबादला कर दिया है। मंत्रिमंडल विस्तार के बाद पहली बार बड़ा प्रशासनिक फेरबदल हुआ। इस तबादले में लखनऊ के मंडलायुक्त अनिल गर्ग के स्थान पर मुकेश कुमार मेश्राम को सचिव चिकित्सा से तबादला कर मंडलायुक्त पद पर तैनाती दी गई है।

अप्रैल 2017 में योगी सरकार के आने के बाद ही अनिल गर्ग को लखनऊ का मंडलायुक्त बनाया गया था। अब उन्हें राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण का सीईओ बनाकर कानपुर भेजा गया है।

आईएएस अधिकारी एवं यूपीएसआईडीसी के प्रबंध निदेशक संजय प्रसाद और 1998 बैच के आईएएस अधिकारी व खाद्य आयुक्त आलोक कुमार-तृतीय को मुख्यमंत्री का सचिव बनाया गया है। दोनों ही अधिकारी बिहार के मूल निवासी हैं। संजय सीतामढ़ी के तो आलोक पटना के रहने वाले हैं। सचिव मुख्यमंत्री के पद पर कार्यरत 1995 बैच के आईएएस अधिकारी मृत्युंजय नारायण के केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने और 2000 बैच के आईएएस मनीष चौहान को गन्ना आयुक्त बनाए जाने के बादे से ही ये पद खाली चल रहे थे।

शासन ने गन्ना आयुक्त मनीष चौहान खाद्य आयुक्त बनाए गये हैं। प्रमुख सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास संजय आर. भूसरेड्डी को फिर से गन्ना आयुक्त का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। विशेष सचिव कृषि उत्पादन आयुक्त शाखा महेंद्र बहादुर सिंह को अपर आयुक्त गन्ना बनाया गया है।

शासन ने जल निगम की व्यवस्था आईएएस अधिकारियों के हवाले कर दी है। जल निगम का नया प्रबंध निदेशक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी विकास गोठलवाल को बनाया गया है। वह अभी तक सचिव नगर विकास थे। इसके अलावा निगम में संयुक्त प्रबंध निदेशक के दो पदों पर आईएएस अधिकारी एवं विशेष सचिव गृह संजय कुमार खत्री व सीडीओ गाजियाबाद रमेश रंजन की तैनाती की गयी है। पहले इन पदों की जिम्मेदारी इंजीनियरों के पास होती थी।

Updated : 3 Sep 2019 6:31 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top