Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > यूपी ट्रैवल मार्ट पर्यटन की संभावनाओं को देश-दुनिया के सामने रखने का मौका - सीएम योगी

यूपी ट्रैवल मार्ट पर्यटन की संभावनाओं को देश-दुनिया के सामने रखने का मौका - सीएम योगी

यूपी ट्रैवल मार्ट पर्यटन की संभावनाओं को देश-दुनिया के सामने रखने का मौका - सीएम योगी
X

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी ट्रैवल मार्ट के माध्यम से उत्तर प्रदेश के पर्यटन की ढेर सारी संभावनाओं को हम देश और दुनिया के सामने रख सकते हैं। उद्योग जगत की प्रतिष्ठित संस्था फिक्की ने उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग के साथ मिलकर इस योजना को एक नई दिशा देने का कार्य अपने हाथों में लिया है।

मुख्यमंत्री इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 'उत्तर प्रदेश ट्रैवल मार्ट' के शुभारम्भ करने के दौरान बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश डोमेस्टिक टूरिस्ट विजिट के मामले में देश में दूसरे स्थान पर और फॉरेन टूरिस्ट विजिट में पूरे देश में तीसरे स्थान पर है। पर्यटन की जो संभावनाएं होनी चाहिए वह सबसे अधिक उत्तर प्रदेश के अंदर मौजूद है। भारत सरकार ने जो अपनी पर्यटन से जुड़ी हुई अनेक योजनाएं घोषित की हैं, उनमें उत्तर प्रदेश मुख्य केंद्र बिंदु है। स्वदेश दर्शन हो या रामायण सर्किट, कृष्ण सर्किट हो बौद्ध सर्किट या फिर अध्यात्मिक सर्किट,सभी का केंद्र बिंदु उत्तर प्रदेश है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सुरक्षा की दृष्टि से आज देश में सबसे सुरक्षित स्थल बन रहा है। आवागमन की स्थिति भी यहां काफी सुधरी है। लखनऊ, वाराणसी, इलाहाबाद, गोरखपुर और कानपुर प्रदेश व देश की राजधानी से वायुमार्ग से जुड़े हुए हैं। आने वाले दिनों में बरेली, मुरादाबाद, अलीगढ़ और आजमगढ़ जैसे जिले भी वायुमार्ग से जुड़ने वाले हैं। कुशीनगर और जेवर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने की तैयारी हो रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनवरी से मार्च के प्रथम सप्ताह तक होने वाले दुनिया के सबसे बड़े सांस्कृतिक और अध्यात्मिक आयोजन कुंभ में करीब 12 करोड़ लोग आएंगे। हमारी सरकार ने भारत सरकार के साथ मिलकर योजना तैयार की है। उन्होंने कहा कि दिसंबर के दूसरे सप्ताह में दुनिया के 192 मिशन से जुड़े हुए अधिकारीगणों की एक विजिट प्रयागराज में आयोजित की जा रही है। उत्तर प्रदेश सरकार इन सभी देशों के लोगों को कुंभ में आने का न्योता देगी।

कुंभ में इस बार देश के 6 लाख गांवों के कम से कम एक या दो पर्यटकों को लाने की व्यवस्था भारत सरकार के साथ मिलकर की जा रही है। कुंभ के आयोजन के साथ-साथ जनवरी 20-23 के बीच वाराणसी में प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन भी किया गया है। इसमें भी करीब 6000 प्रवासी भारतीय हिस्सा लेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ईको टूरिज्म से जुड़े हुए अनेक स्थान उत्तर प्रदेश में हैं। उन सभी के विकास की योजनाओं पर काम किया जा रहा है। स्प्रिचुअल टूरिज्म और हैरिटेज टूरिज्म के मामले में भी उत्तर प्रदेश काफी संपन्न है। आगरा में ही 5 हैरिटेज साइट्स हैं, जिन्हें यूनेस्को ने चिह्नित किया है।

उत्तर प्रदेश के पर्यटन को विकसित करने और बढ़ाने में यूपी ट्रेवल मार्ट अच्छी भूमिका निभा सकता है। उत्तर प्रदेश आह्वान कर रहा है कि आप सभी उत्तर प्रदेश सरकार के साथ मिलकर यहां पर्यटन की संभावनाओं को विकसित करने के लिए काम कीजिए।

गौरतलब है कि 27 से 30 अगस्त तक 'उत्तर प्रदेश ट्रैवल मार्ट' का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश सरकार के मुताबिक इस आयोजन में 23 देशों के 53 टूर ऑपरेटर तथा 19 भारतीय टूर ऑपरेटर 9 प्रदेशों से प्रतिभागिता कर रहे हैं। ये आपसी विचार-विमर्श के द्वारा अपने व्यापार को बढ़ाने की दिशा में भी कार्य करेंगे।

ट्रैवल मार्ट में खरीदार और विक्रेताओं के बीच बैठकें भी होंगी। इस आयोजन में विदेशों से आने वाले टूर ऑपरेटरों को प्रदेश में भ्रमण भी कराया जाएगा।

Updated : 2018-08-27T21:36:09+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top